अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कोसोवो को मान्यता का इंतजार

सर्बिया से अलग खुद को स्वतंत्र घोषित कर देने वाले कोसोवो को अब अंतरराष्ट्रीय मान्यता का इंतजार है। कोसोवो के नेताओं ने 1वें राष्ट्र के तौर पर मान्यता देने के आग्रह के साथ सभी 1ो सोमवार को पत्र भेजे। इस बीच, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद और यूरोपीय संघ कोसोवो की एकतरफा घोषणा के मामले पर एकदम बंटे नजर आ रहे हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश ने कोसोवो को खुले समर्थन की घोषणा करते हुए सोमवार को कहा कि कोसोवो अब एक आजाद देश है। लेकिन रूस ने इस पर बेहद कड़ी प्रतिक्रिया जताते हुए गंभीर परिणामों की चेतावनी दी है। स्पेन, चीन व श्रीलंका समेत कई देशों ने भी कोसोवो के फैसले की आलोचना की है। इस सबके बीच संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून ने सभी पक्षों से संयम से काम लेने की अपील की है। यूरोपीय संघ और अमेरिका के समर्थन से सर्बिया के प्रांत कोसोवो ने रविवार को खुद को स्वतंत्र देश घोषित कर दिया था। इसके बाद बड़ी संख्या में जातीय अल्बानियाई लोगों ने सड़कों पर निकलकर आजादी का जश्न मनाया। इस दौरान उत्तरी क्षेत्र में हिंसा की घटनाएं भी हुईं जहां अल्पसंख्यक सर्बो के घर थे। कोसोवका मित्रोविका में बड़ी संख्या में सर्बो में कोसोवो की आजादी की घोषणा के खिलाफ प्रदर्शन भी किए। गुस्साए सर्बियाई नागरिकों ने बेलग्रेड में कुछ पश्चिमी देशों के दूतावास पर पथराव भी किया। कोसोवो के नेताओं ने आजाद राष्ट्र के तौर पर मान्यता के लिए सर्बिया को भी पत्र भेजा है जिसे सर्बिया ने सिरे से खारिज कर दिया। साथ ही कहा कि वह कोसोवो को राजनयिक मान्यता और संयुक्त राष्ट्र की सदस्यता पाने से रोकने के लिए हरसंभव उपाय करेगा। कोसोवो के ताजा घटनाक्रम पर चर्चा के लिए सोमवार को हुई यूरोपीय संघ की बैठक में सदस्य देश बंटे नजर आए। बैठक की अध्यक्षता कर रहे स्लोवेनिया ने कहा कि वह चाहता है कि सदस्य देश कोसोवो को स्वतंत्र राष्ट्र के रूप में मान्यता देने में देरी न करें। वहीं, स्पेन ने साफ कर दिया कि वह कोसोवो को मान्यता देने को तैयार नहीं है। इस बीच मास्को से मिली खबरों में कहा गया है कि रूस सरकार ने कोसोवो को स्वतंत्र राष्ट्र के रूप में मान्यता देने के किसी भी कदम का कड़ा विरोध करते हुए चेतावनी दी है कि इससे दुनिया के कई देशों में क्षेत्रीय अलगाववाद को लेकर हो रहे संघर्ष को बल मिलेगा। उधर, संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्य चीन ने कोसोवो की एकतरफा घोषणा पर गहरी चिंता जताते हुए दोनों पक्षों से वार्ता जारी रखने का आग्रह किया।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कोसोवो को मान्यता का इंतजार