DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कनाडा में कसौटी पर कसी गई पगड़ी

बलजिंदर बादेशा ने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि अपने धर्म के प्रति अटूट आस्था उसे किसी दिन ऐसा इम्तहान देने पर विवश कर देगी कि उसे फुल स्पीड मोटरसाइकिल दौड़ाकर साबित करना पड़ेगा कि उसकी पगड़ी हवा में खुलती है कि नहीं। 3वर्षीय बादेशा को आेंटारियो मानवाधिकार आयोग की निगरानी में इस कसौटी से इसलिए गुजरना पड़ा क्योंकि उसने देश में मोटरसाइकिल सवारों के लिए हैलमेट अनिवार्य किए जाने के वैधानिक नियम को चुनौती दी थी। बादेशा के वकील ने रविवार को जज जेम्स ब्लैकलॉक के समक्ष सुनवाई के दौरान इस दलील का विरोध किया कि तेज स्पीड में पगड़ी सिर से उतर सकती है और दुघर्टना का कारण बन सकती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कनाडा में कसौटी पर कसी गई पगड़ी