DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘रानीसाहिबा’ 50 साल से नजरबंद

नेपाल के शाही महल में पांच दशकों से भी अधिक समय से वर्षीय एक वृा नजरबंद है। हरदम संगीनों के साये में रह रही इस महिला के बारे में ऐसा अनुमान है कि वह नेपाल के पूर्व शाह त्रिभुवन की विधवा है। तमांग जाति की इस वृा को महल परिसर में स्थितव्हाइट हाउस से बाहर निकलने की इजाजत नहीं है। राजा त्रिभुवन के पोते राजा ज्ञानेन्द्र अपने परिवार के साथ इसी महल में रहते हैं। इस बूढ़ी महिला के बारे में नेपाली भाषा के सरकारी अखबार ‘गोरखापत्र’ ने अपनी एक रिपोर्ट में महल के स्टाफ के हवाले से बताया है कि व़ा को एक तंग और साधारण से कमरे में रखा गया है। 1में राजा त्रिभुवन के निधन के बाद से ही इस कमरे के बाहर एक सैनिक बटालियन तैनात है। रिपोर्ट के मुताबिक छोटी जाति का होने के कारण वृा को शाही परिवार की सदस्य का दर्जा नहीं दिया गया है। हालांकि उसे महल द्वारा ‘रानीसाहिब’ अथवा ‘दादीरानी’ के खिताब से नवाजा गया है, लेकिन शाही खानदान के सदस्यों के लिए निर्धारित ‘श्री पंच’ की पदवी देने से इनकार कर दिया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ‘रानीसाहिबा’ 50 साल से नजरबंद