अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पाक में पीपीपी के परचम के संकेत

पाकिस्तान के आम चुनाव में के तुरंत बाद शुरू हुई मतगणना के शुरुआती रुझानों में पूर्वानुमानों के मुताबिक पूर्व प्रधानमंत्री मरहूम बेनजीर भुट्टो की पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी को देश के लगभग सभी प्रांतों में अपने प्रतिद्वंद्वियों से आगे बताया जा रहा है। हालांकि, एक अन्य पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज) का प्रदर्शन शुरुआती रुझानों के मुताबिक उतना संतोषजनक नहीं नजर आ रहा है। पीपीपी को पंजाब में नवाज की पार्टी के बजाय सरकार समर्थक पीएमएल-क्यू से टक्कर मिल रही है। हालांकि, राष्ट्रपति मुशर्रफ समर्थक पीएमएल-क्यू के प्रमुख नेता व पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी शुजात हुसैन को एक वेबसाइट ने पिछड़ते बताया है। जाहिर तौर पर नियति को स्वीकार करते हुए राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ ने कहा, ‘वक्त टकराव का नहीं बल्कि मेल-मिलाप का है।’ इससे पहले, पाक में बहुप्रतीक्षित आम चुनाव सोमवार को विदेशी पर्यवेक्षकों की निगरानी में बेहद कड़ी सुरक्षा के बीच सम्पन्न हुए। पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो की हत्या और उसके बाद लगातार हो रहे हमलों का खौफ मतदाताओं पर साफ नजर आया। नतीजतन केवल 35 फीसदी ही मतदान हुआ। हालांकि मतदान के दौरान हिंसा का भी कोई तांडव नजर नहीं आया। छिटपुट हिंसा में एक उम्मीदवार समेत 11 लोगों के मारे जाने की सूचना है। मतदान समाप्त होते ही मतों की गिनती का भी काम शुरू हो गया। मंगलवार सुबह तक सभी चुनाव परिणाम आ जाने की उम्मीद है। पीपीपी को बेनजीर की मौत से उपजी सहानुभूति लहर का फायदा मिल रहा है। अपने पैतृक शहर नवाब शाह में वोट डालने के के बाद मरहूम पीपीपी नेता के पति आसिफ अली जरदारी ने कहा, ‘पार्टी की किस्मत में चुनाव जीतना लिखा है। जीत के बाद हम व्यवस्था को बदल देंगे।’ वहीं सत्ता के एक अन्य प्रमुख दावेदार नवाज शरीफ की पार्टी पीएमएल-एन ने दावा किया, ‘जनता ने बाहर निकल हमें वोट दिया। लेकिन यह खबरें भी हैं कि रात होते ही वोटों पर डाका पड़ेगा। अगर ऐसा हुआ तो पार्टी इसे कतई बर्दाश्त नहीं करेगी।’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पाक में पीपीपी के परचम के संकेत