DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नवीन के लिए हर धड़कन मांगेगी दुआ

रामगुलाम के स्वागत के लिए दुल्हन की तरह सजा सीवानड्ढr ड्ढr अपने पुरोहित स्वामी गणेश दत्त शुक्ल से मिलने मारीशस के प्रधानमंत्री यहां आयेंगे। यहां वे स्वामीजी द्वारा निर्मित हनुमान मंदिर में माथा टेकेंगे। कहा जाता है कि नवीनचन्द्र रामगुलाम को प्रधानमंत्री बनने का स्वामी जी ने आशीर्वाद दिया था। प्रधानमंत्री नवीनचन्द्र राम गुलाम के आगमन को लेकर शहर को दुल्हन की तरह सजाया गया है। प्रशासन की आेर से सुरक्षा की कड़ी व्यवस्था की गयी है। इस अवसर पर यहां के लोग स्व. सर शिवसागर रामगुलाम के मंत्रिमंडीय सहयोगी रहे सीवान निवासी डा. बुद्धन त्रिलोक को भी याद कर रहे हैं। डा. त्रिलोक फिलहाल मारीशसके बड़े डॉक्टरों में गिने जाते हैं। डा. त्रिलोक का सीवान जिले के गोरेयाकोठी प्रखंड के बरारी गांव में पैतृक निवास है।ड्ढr ड्ढr स्वामी गणेश दत्त शुक्ल वर्ष 1े पहले तक सीवान में फर्नीचर की दुकान चलाते थे। वैसे उनका परिवार आजकल लखनऊ में रहता है। उनकी पत्नी, दो लड़कियां और एक लड़का प्रधानमंत्री के आगमन पर सीवान में पहुंचे हैं। स्वामी गणेश दत्त शुक्ल हनुमान भक्त हैं। उन्होंने दो वर्ष पूर्व शुक्ल टोली में एक भव्य मंदिर बनवाया जिसका 1रवरी को वार्षिकोत्सव भी है। परिजन बताते हैं कि स्वामी जी ने सच्ची लगन और श्रद्धा से हनुमान जी की पूजा-अर्चना की। इसी कारण उन्हें देश-विदेशों में यश मिला। परिजन यह भी बताते हैं कि 1में स्वामीजी मारीशस गए थे जहां उन्हें नवीनचन्द्र रामगुलाम से मिलने का मौका मिला। स्वमी जी ने वर्ष में भविष्यवाणी कि थी कि जल्द ही आप मारीशस के प्रधानमंत्री बनेंगे। इस पर नवीनचन्द्र रामगुलाम को आश्चर्य हुआ। मगर उनकी भविष्यवाणी सच साबित हुई। नवीनचन्द्र रामगुलाम वहां के प्रधानमंत्री बने। स्वामी जी का कहना है कि उनके बुलावा पर प्रधानमंत्री ने सीवान आना स्वीकार कर लिया था।ड्ढr ड्ढr इस मौके पर सीवानवासी डा. त्रिलोक की भी चर्चा कर रहे हैं। वर्ष में डा. त्रिलोक अपने पैतृक गांव बरारी आए थे। तब उन्होंने गांव के विकास के लिए ग्यारह लाख रुपए भी दिए थे जिससे सामुदायिक भवन, स्वास्थ्य केन्द्र व कन्या विद्यालय आदि का निर्माण किया गया। तत्कालीन जिलाधिकारी आरके महाजन ने 8 फरवरी 03 को इनका उद्घाटन किया। फिर दूसरी बार वे 4 दिसम्बर 04 को अपने परिजनों के साथ पैतृक गांव आए थे। आज हरिगांव पहुंचने की सभी के भीतर दिख रही बेताबीड्ढr ड्ढr हरिगांव (अवनीश अगाध)। भोजपुर की धरती का बेटा आ रहा है। धन से नहीं धड़कन की दुआआें से तौलेंगे। लौटकर सात समंदर पार जाए तो बार-बार उसे हरिगांव की धरती बुलाये ऐसी तैयारी करो भाई। यह जज्बा हरिगांव के रहने वाले कई बुजुगरे में दिख रहा है। मॉरीशस के प्रधानमंत्री नवीन चंद्र राम गुलाम के स्वागत में पलक पांवड़े बिछाये ये लोग पुलकित हैं। गांव की गलियों में जगह-जगह महापुरुषों के तोरणद्वार बनाये गए हैं। गांव की पगडंडियों पर महिलाएं चलते-फिरते भोजपुरी गीत गा रही हैं। 1603 एकड़ में फैले व 8723 लोगों की जनसंख्या वाले इस गांव के एक बेटे ने ऐसा यश पताकाफहराया कि 1871 की तंग जिन्दगी गौण हो गई। मारीशस जैसे देश का नवनिर्माण हुआ। ऐसी विभूतियों को जन्म देने वाली पैतृक मिट्टी को आज नमन करने आ रहे प्रधानमंत्री नवीन चंद्र रामगुलाम के स्वागत में जोरदार तैयारियां की गई हैं।ड्ढr ड्ढr राष्ट्रीय उच्च पथ 30 पर जगह-जगह तोरणद्वार, फूलों से सजे-संवरे उन द्वारों की खूबसूरती देखते ही बन रही है। सभास्थल से लगभग 3 किलोमीटर विमवां स्थित हैलीपैड की सड़क चकचक कर रही है। गांव की गलियों की तस्वीर बदल गई है। बच्चे रंग-बिरंगे कागजों की झंडी काटकर पूरे गांव में लगा रहे हैं। मानो कोई उत्सव हो। पीएम के दादा के नाम पर सरोवर, पिता के नाम पर हाईस्कूल, बीएड कॉलेज से लेकर पीएम के नाम पर अस्पताल के निर्माण का शिलान्यास भी करने की तैयारी पूरी कर ली गई है। सभा स्थल के पास ही शिलापट्ट लगाये गये हैं। जिला प्रशासन ने ऐसी व्यवस्था की है कि कोई परिंदा भी पर न मार सके। विदेशी दीर्घा, जनप्रतिनिधि दीर्घा से लेकर आमजनों के लिए बैरिकेडिंग आधारित व्यवस्था की गई है। कई जगहों पर मेटल डिटेक्टर व हेलीपैड से लेकर एनएच के तीन किलोमीटर क्षेत्र में चप्पे-चप्पे पुलिस बल तैनात किए गए हैं। हैलीपैड से कार पर बैठकर पीएम सीधे सभा स्थल जाएंगे। इस दौरान स्वागत में 6 हजार स्कूली बच्चे आगवानी करेंगे। द्वापर युग के शिव मंदिर के पुजारी भी आशीर्वाद देने को आतुर हैं। पीएम के वंशजों की एक ही अभिलाषा है कि वे उनका दीदार कर सकें। फिलवक्त दुल्हन की तरह सजाये गए हरिगांव में प्यार की छांव लेने सपत्नीक आने वाले नवीन चंद्र रामगुलाम को देखने के लिए लोगों की जिज्ञासाएं लगातार हिलोरें मार रही हैं।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नवीन के लिए हर धड़कन मांगेगी दुआ