अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एकराम की हत्या के विरोध में बंद रहा डोरंडा

झाविमो नेता मो एकराम की हत्या के विरोध में सोमवार को डोरंडा स्वत: बंद रहा। तोड़फ ोड़, आगजनी और रोड़ेबाजी से क्षेत्र में दहशत थी। उग्र लोगों ने रोड़ेबाजी की और वाहनों को भी क्षतिग्रस्त किया।ड्ढr इस दौरान अलग-अलग स्थानों पर मची भगदड़ में कई लोगों को चोटें लगी। अफरा-तफरी में राहगीरों को गिरने से भी चोट लगी। एकराम की मौत से गुस्साए लोगों ने अहले सुबह आरोपी इजहारूल उर्फ छोटू के निर्माणाधीन मकान इश्हाक मंजिल को नुकसान पहुंचाया। इसके अलावा एकराम के समर्थक अपने स्तर से आरोपियों और उनके परिजनों की तलाशते रहे, जिससे लोग डरे-सहमे रहे। भारी पुलिस इंतजाम, सघन गश्ती और जवानों की सर्तकता के बीच एकराम के पार्थिव शरीर को असरा की नमाज के बाद डोरंडा कब्रगाह में सुपुर्दे खाक किया गया। शव दफनाने के बाद भी डोरंडा के वाशिंदे गैंगवार और विरोध में की जानेवाली कार्रवाई से डरे थे। एहतियातन शाम ढलते ही युनूस चौक, झंडा चौक, मणिटोली, नाई मुहल्ला और कुसई जानेवाले मार्ग पर सशस्त्र जवान तैनात कर दिये गये है। जानकारी के मुताबिक झाविमो नेता एकराम की हत्या की खबर मिलने के बाद सोमवार की सुबह इलाके के दर्जनों लोग सड़क पर उतर आये। गुस्साये लोगों ने एजी मोड़ के समीप वाहनों पर पथराव किया। राहगीरों और दोपहिया वाहनों पर सवार लोगों की पिटाई की, जिससे भगदड़ मच गयी। सूचना मिलते ही एजी मोड़ पहुंची डोरंडा पुलिस ने शरारती तत्वों को खदेड़ दिया। इधर एकराम की हत्या की खबर मिलते ही सुबह नौ बजे से बड़ी संख्या में परिचित और राजनीतिक दल से जुड़े लोगों का नाई मुहल्ला पहुंचना शुरू हो गया था। इनमें महिलाआें की संख्या ज्यादा थी। युनूस चौक पर एकत्र लोग दबी जुबान से घटना को लेकर तरह-तरह की चर्चा कर रहे थे। दिवंगत एकराम के आवास के समीप रैफ और जिला बल के जवानों को तैनात रखा गया था। हटिया डीएसपी भी वहीं शाम तक जमे रहे। वहीं डोरंडा के अलावा अरगोड़ा थाना प्रभारी रणजीत सिन्हा, चुटिया के मो नेहालुद्दीन और जगन्नाथपुर के रामप्रवेश इलाके में गश्त करते रहे। झाविमो नेता दीपक प्रकाश, अल्पसंख्यक मोरचा के मो रब्बानी समेत विभिन्न दलों के कई नेता एकराम के घर पहुंचे और परिजनों को ढाढस बंधाया। डोरंडा पुलिस ने मामले में नामजद बनाये गये आरोपियों की तलाश में सोमवार की रात कई जगहों पर छापामारी की, लेकिन कहीं सुराग नहीं मिला।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: एकराम की हत्या के विरोध में बंद रहा डोरंडा