अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मुशर्रफ की सरपरस्ती काबखान किया अमेरिका ने

अमेरिका ने पाकिस्तान के चुनाव नतीजों के साथ ही अपने मशर्रफ प्रेम का भी इजहार कर दिया है। चुनावों में परास्त हो जाने के बावजूद राष्ट्रपति के रूप में मुशर्रफ की हैसियत को एक तरह से पूरी मान्यता देते हुए अमेरिका ने कहा है कि पाकिस्तान इन चुनावों के साथ पूर्ण लोकतंत्र बहाली की दिशा में कदम बढ़ा चुका है और उम्मीद की जानी चाहिए कि मुल्क का नया प्रधानमंत्री परवेज मुशर्रफ के साथ तालमेल बनाकर काम कर सकेगा। अमेरिकी विदेश मंत्रालय के उप प्रवक्ता टॉम कासे ने कहा, हम अर्से से इसी इंतजार में थे कि कब पाकिस्तान में चुनाव हों और लोकतंत्र का रास्ता खुले। हमें आशा है कि सभी सियासी पार्टियां मुल्क के स्थायित्व के लिए मिलजुल कर काम करेंगी। आतंकवाद के खिलाफ वैश्विक जंग में पाकिस्तान की अग्रणी भूमिका के बीच मुशर्रफ की पार्टी पीएमएल (क्यू) की हार को एक तरह से नजरअंदाज करते हुए प्रवक्ता ने कहा कि चुनाव नतीजों के बाद जो भी वहां प्रधानमंत्री बनेगा, उससे यही उम्मीद रहेगी कि वह राष्ट्रपति मुशर्रफ के साथ काम करने की सहज स्थिति में होगा। प्रवक्ता ने कहा कि पाकिस्तान का चुनाव जितना निष्पक्ष और अपेक्षाकृत शांतिपूर्ण ढ़ग से संपन्न हुआ, वह वाकई काबिले गौर है। उन्होंने कहा कि शुरुआती चुनाव नतीजों के रुझान अंतिम तस्वीर का साफ संकेत दे रहे हैं और हर पार्टी को इनका सम्मान करना चाहिए।ड्ढr उधर अक्करा से मिली खबर के मुताबिक व्हाइट हाउस ने भी पाकिस्तान के मौजूदा चुनावों को एकदम साफ सुथरा और निष्पक्ष बताया है। राष्ट्रपति बुश की आेर से बयान जारी करते हुए उनकी प्रवक्ता डाना पेरिनो ने कहा इन चुनावों ने पाक मतदाताआें को बैलेट के जरिए अपनी भावनाआें का इजहार करने का मौका दिया है और अपने मताधिकार के प्रति उनका विश्वास पुख्ता हुआ है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मुशर्रफ की सरपरस्ती की अमेरिका ने