DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नक्सलियों का बंद, सुरक्षा चाक-चौबंद

घाटशिला अनुमंडल अंतर्गत भीतरआमदा गांव की घटना के विरोध में 20 फरवरी की आधी रात आहूत नक्सलियों के झारखंड बंद के मद्देनजर सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गयी है। झारखंड के अलावा उड़ीसा और बंगाल में भी बंद का आह्वान है। इधर, रांची के एसडीओ मनोज कुमार ने बंद के मद्देनजर निषेधाज्ञा लागू कर दी है। इस दिन धरना, प्रदर्शन पर प्रतिबंध रहेगा।ड्ढr उधर रांची के सभी स्कूल खुले रहेंगे। बंदी से आवश्यक सेवा, प्रेस, एंबुलेंस और दवा की दुकानों को मुक्त रखा गया है। बंद के समर्थन में नक्सलियों ने 1व 20 फरवरी को मशाल जुलूस भी निकाला। वहीं पुलिस मुख्यालय ने इससे निपटने के लिए कई कदम उठाये हैं। गृह विभाग ने सभी आरक्षी अधीक्षकों और उपायुक्तों को पत्र भेजकर सतर्क कर दिया है। मुख्यमंत्री ने डीजीपी से कहा है कि बंद के दौरान हिंसा की इजाजत नहीं दी जायेगी। पूरे राज्य में हाई अलर्ट है। जमशेदपुर, चाईबासा, गिरिडीह, हजारीबाग और चतरा में सुरक्षा के खास इंतजाम किये गये हैं। रांची-पटना मार्ग पर पुलिस ने खास व्यवस्था की है क 20 फरवरी की 12 बजे रात से ही कनवाय द्वारा वाहनों को घाटी पार कराया जा रहा है। ऐसी व्यवस्था बुंडू और चरही के बीच की गयी है।ड्ढr बंद के कारण रेल पटरियों की सुरक्षा भी बढ़ा दी गयी है, जबकि रेल प्रशासन ने उग्रवादग्रस्त इलाकों से गुजरने वाले कई ट्रेनों का रुट बदल दिया है। रेलवे के अनुसार 20 फरवरी को रांची से खुलनेवाली रांची-बनारस इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन (8611) का परिचालन बरकाकाना के बजाय गोमो-गया और मुगलसराय होकर किया गया। हटिया से खुलनेवाली हटिया-पठानकोट जम्मुतवी एक्सप्रेस ट्रेन को भी बुधवार को बरकाकाना के बजाये गोमो, गया के बाद मुगलसराय स्टेशन से किया गया। डीजीपी ने सभी एसपी को निर्देश दिया है कि सरकारी संपत्तियों के अलावा रेलवे लाइन पर विशेष नजर रखें। पुलिस प्रवक्ता आरके मल्लिक ने कहा कि सुरक्षा के खास इंतजाम किये गये हैं। साथ ही सीसीएल की कोलियरियां, झुमरा पहाड़ पर विशेष सुरक्षा व्यवस्था का इंतजाम किया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नक्सलियों का बंद, सुरक्षा चाक-चौबंद