DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

श्रीलंका को लगाना होगा एड़ी चोटी का जोर

श्रीलंका को त्रिकोणीय सीरीज के फाइनल में पहुंचने के लिए कम से कम दो मैच जीतने होंगे। इसलिए श्रीलंकाई खिलाड़ी शुक्रवार को ऑस्ट्रेलिया को शिकस्त देने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा देंगे। अंक तालिका में सबसे नीचे श्रीलंका की टीम अब कोई हार बर्दाश्त नहीं कर सकती। श्रीलंका के कप्तान माहेला जयवर्धने पहले ही कह चुके हैं उनकी टीम के लिए हर मैच सेमीफाइनल है। वहीं मेजबान ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ी भी फाइनल में अपनी जगह पक्की करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। इस मैच को जीतने की हालत में ऑस्ट्रेलिया के21 अंक हो जाएंगे। ऐसे में भारत के 12 और श्रीलंका के सिर्फ छह अंक होंगे और ऑस्ट्रेलिया का फाइनल में पहुंचना तय हो जाएगा। मैदान पर विश्व चैम्पियन से वैमनस्य के बावजूद महेंद्र सिंह धोनी और उनके खिलाड़ी कल ऑस्ट्रेलिया को जीतता देखना पसंद करेंगे। इससे भारत की टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचने की राह आसान हो जाएगी। विश्व कप के फाइनलिस्ट श्रीलंका का इस सीजन में चैम्पियन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ प्रदर्शन काफी फीका रहा है। वह ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज 0-2 से गंवाने के बाद दोनों एकदिवसीय मैचों में भी शिकस्त खा चुका है। मेलबर्न में ऑस्ट्रेलिया ने शानदार प्रदर्शन करते हुए अपने पिछले 24 में से 20 एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच जीते हैं। श्रीलंका की गेंदबाजी तो फिर भी ठीकठाक है। उसकी बल्लेबाजी कोच ट्रेवर बेलिस के लिए चिंता का सबब बनी हुई है। कुमार संगकारा और कप्तान माहेला जयवर्धने अच्छे रन बनाते रहे हैं। लेकिन मध्यक्रम के बाकी बल्लेबाजों से उन्हें पर्याप्त समर्थन नहीं मिल सका है। ऑस्ट्रेलिया के गेंदबाज श्रीलंका को 125 और 173 रन के योग पर आउट कर चुके हैं।ड्ढr वैसे मेजबान टीम में भी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने जा रहे एडम गिलक्रिस्ट और माइकल क्लार्क को छोड़ कर कोई भी खिलाड़ी अपने बल्ले की चमक नहीं बिखेर सका है। बेशक इस सीरीज में पिचें बल्लेबाजों पर कम मेहरबान रही है। मगर ऑस्ट्रेलिया एक मर्तबा ही 250 रन के पार पहुंच सका है। कप्तान रिकी पॉन्टिंग और एंड्रयू सायमंड्स सीरीज में एक भी अर्धशतक नहीं लगा सके हैं। बल्लेबाजी के बनिस्बत ऑस्ट्रेलिया की गेंदबाजी ज्यादा कारगर रही है। उसके गेंदबाजी किसी भी स्कोर की रक्षा करने में सक्षम हैं। भारत के खिलाफ पिछले मैच में ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों ने महज 20रन बनाए थे लेकिन उसके गेंदबाजों ने 50 रन से जीत दिला दी थी। उनका यह प्रदर्शन तब भी शानदार था जबकि उसके आक्रमण में ब्रेट ली नहीं थे। लेकिन ऑस्ट्रेलिया हर हाल में जीत हासिल करने के अपने पुख्ता इरादे की वजह से प्रतिद्वंद्वी टीम पर भारी होगा।ड्ढr

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: श्रीलंका को लगाना होगा एड़ी चोटी का जोर