अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

वीआरवी के पंजे में फंसा पश्चिम

वानखेड़े स्टेडियम की उछाल भरी पिच पर तेज गेंदबाजों वीआरवी सिंह और सिद्धार्थ त्रिवेदी के बेहतरीन प्रदर्शन से दिलीप ट्रॉफी का फाइनल मैच तीसरे ही दिन रोमांचक मोड़ पर पहुंच गया है। इनकी स्विंग होती गेंदों ने बेबाजों को दिनभर खूब छकाया। खिलाड़ी और अधिकारी गुरुवार की रात चैन की नींद नहीं सो पाएंगे। शुक्रवार को चौथे दिन जीत के लिए मौजूदा चैपियन उत्तर क्षेत्र को रन और पश्चिम क्षेत्र को सात विकेट चाहिए। इसमें कोई भी गुल खिल सकता है।ड्ढr वीआरवी सिंह की तेजी से स्विंग होती गेंदों का खौफ पश्चिम क्षेत्र के बेबाजों पर ऐसा छाया है कि तीसरे दिन दूसरी पारी में भी पांच विकेट उनकी झोली में आ गए और उत्तर क्षेत्र के चैंपियन बनने की राह तैयार हो गई थी। 166 रन के विजय लक्ष्य का पीछा करते हुए उत्तर क्षेत्र की दूसरी पारी की शुरुआत लडख़ड़ाहट भरी हुई। पहली पारी में छह विकेट चटकाने वाले सिद्धार्थ त्रिवेदी की गेंदों की तेजी में फंस उसने 74 रन पर तीन विकेट गंवा दिए। खब्बू आेपनर शिखर धवन 7 चौके ठोक 44 रन बनाकर और यशपाल सिंह तीन चौकों से 15 रन बना क्रीज पर डटे हुए हैं। त्रिवेदी ने आकाश चोपड़ा को एलबीडब्ल्यू किया, लेकिन वह फैसले से संतुष्ट नहीं थे। खब्बू अशरफ मकड़ा ने करण गोयल को विकेटकीपर के हाथों लपकवा दिया। कप्तान मिथुन मन्हास त्रिवेदी की गेंद पर फ्रंटफुट पर गच्चा खाकर स्लिप में जाफर को कैच दे बैठे। 23 गेंदों में 12 रन जोड़ तीन विकेट गंवाने से उत्तर को झटका लगा, लेकिन धवन ने एक छोर पर सजगता और आक्रमण के साथ मोर्चा संभाले रखा। वह जब 26 रन पर थे तो जोबनपुत्र अपनी ही गेंद पर कैच लपकने में चूक उत्तर क्षेत्र को राहत दे गए।ड्ढr इससे पूर्व पहली पारी में 66 रन से पिछड़े पश्चिम क्षेत्र की दूसरी पारी चाय से चार मिनट पहले 60 आेवर में 231 रन पर सिमट गई थी।ड्ढr वीआरवी सिंह ने लंच से पहले दो विकेट लेने के बाद उन्होंने आठ गेंदों में तीन विकेट झटक पश्चिम क्षेत्र को खूंटे से उखाड़ दिया। वीआरवी सिंह, विक्रमजीत मलिक और अशोक ठाकुर की तिकड़ी ने पहले सत्र में ही पांच विकेट आपस में बांट पश्चिम क्षेत्र की हालत खस्ता कर दी थी। अंतिम चार विकेट 2गेंदों में रन पर गिरे।ड्ढr वीआरवी सिंह ने आज के पहले आेवर की तीसरी गेंद पर आेपनर साहिल कुकरेजा को विकेट के पीछे लपकवा कर पहला झटका दिया। खब्बू अशोक ठाकुर ने जाफर को 23 रन पर क्लीन बोल्ड किया तो लगातार विकेट गिरने शुरू हो गए। कप्तान पार्थिव पटेल और चेतेश्वर पुजारा पहली पारी की तरह इस बार भी असफल रहे। दोनों को मलिक ने शिकार बनाया। रहाणे जब 43 रन पर थे तो वीआरवी सिंह ने उन्हें एलबीडब्ल्यू कर दिया। 74 गंेदों में एकदम से 52 रन में चार विकेट गिरने से 108 रन पर आधी टीम पैवेलियन लौट गई थी।ड्ढr यूसुफ पठान और राकेश सोलंकी ने छठे विकेट के लिए 5रन की साझेदारी निभाई। पठान आक्रामक अंदाज में 51 गेंदों में दस चौके ठोकते हुए 61 रन बनाकर लेग स्पिनर अमित मिश्रा को विकेट दे गए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: वीआरवी के पंजे में फंसा पश्चिम