अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘खुदा के लिए’ के दृश्य पर सेंसर को आपत्ति

हाल के कई विवादों में जाने-अनजाने लपेटे में आए सेंसर बोर्ड ने कुछ ज्यादा ही सावधानी रखनी शुरू कर दी है। इस्लाम और पाक जैसे संवेदनशील विषय को छूने वाली जिस पाकिस्तानी फिल्म में पाकिस्तान की सरकार ने आपत्ति के लायक कुछ नहीं माना, उसमें भारतीय सेंसर बोर्ड को थोड़ी ही सही, आपत्ति नजर आई है। नसीरुद्दीन शाह की भूमिका वाली फिल्म ‘खुदा के लिए’ के निर्मातानिर्देशक पाक के सोहेब मंसूर हैं। यह फिल्म पाक में बिना किसी कट के रिलीज हो चुकी है और व्यवासायिक रूप से भी सफल रही है। कुछ महीने पहले इसे भारत में रिलीज करने का फैसला किया गया। फिल्म को सेंसर बोर्ड की दिल्ली स्थित एक्जामिनिंग कमेटी और बाद में रिवाइजिंग कमेटी ने देखा। चूंकि सेंसर बोर्ड को लगा कि भारत में ‘खुदा के लिए’ रिलीज होने से यहां विवाद खड़ा हो सकता है, सेंसर बोर्ड अध्यक्ष शर्मिला टैगोर और कुछ वरिष्ठ सदस्यों ने फिल्म को खुद देखा। फिल्म के प्रोडय़ूसर से कहा गया है कि वे फिल्म से एक दृश्य को निकाल दें। इसके अलावा इस फिल्म को एडल्ट सर्टिफिकेट (ए)देने का फैसला किया गया। ‘खुदा के लिए’ मुख्य रूप से उन विपरीत परिस्थितियों की कहानी कहती है, जिनसे े बाद पाकिस्तान और खासकर मुसलमानों को जूझना पड़ रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ‘खुदा के लिए’ के दृश्य पर सेंसर को आपत्ति