DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तो बिहार में आमने-सामने होंगे भाजपा-जेडीयू!

बिहार में राज्यसभा चुनावों में भाजपा और जेडीयू आमने-सामने हो सकते हैं। अप्रैल में होने वाले राज्यसभा चुनावों में बिहार से पांच सदस्य चुने जाने हैं। एक सीट पर उपचुनाव भी होना है। यह सीट आरजेडी के मतिउर रहमान के निधन के बाद खाली हुई है। इस सीट पर जेडीयू दावा ठोक रही है। भाजपा और जेडीयू, इन्हीं दोनों पार्टियों की बिहार में गठबंधन सरकार है। संख्या के हिसाब से भाजपा-जेडीयू गठबंधन को तीन सीटें मिलना पक्का है। भाजपा इन्हीं पक्की सीटों में से दो पर अपना दावा जता रही है। हालांकि उसके पास दो सीटों लायक वोट नहीं हैं। भाजपा का तर्क है कि 2006 के राज्यसभा चुनाव में उसने अपने कोटे के 1वोट ट्रांसफर करा कर जेडीयू के अतिरिक्त सदस्य को राज्यसभा में भिजवाया था। उस वक्त नीतीश ने भाजपा महासचिव अरुण जेतली से अपनी राजनीतिक जरूरतों की दुहाई देते हुए अतिरिक्त वोट मांगे थे। यही नहीं, उन्होंने जेतली से वर्ष 2008 के चुनाव में एक अतिरिक्त सीट देने का वायदा किया था। इस पूरे गुणा-भाग को पार्टी अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने भी हरी झंडी दे दी थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: तो बिहार में आमने-सामने होंगे भाजपा-जेडीयू!