DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बैंक हड़ताल के कारण दो दिनों की परीक्षा स्थगित

बैंक हड़ताल के कारण दो दिनों की इंटर की परीक्षा स्थगित कर दी गयी है। बिहार विद्यालय परीक्षा के उच्च माध्यमिक प्रभाग ने 25 व 26 फरवरी को प्रस्तावित बैंकों की हड़ताल को देखते यह निर्देश जारी किया है। अब इन दोनों परीक्षाआें को छह व सात मार्च को लिया जाएगा। समिति के सचिव अनुप कुमार सिन्हा ने इस संबंध में बताया कि बैंकों की हड़ताल केकारण परीक्षा का कार्यक्रम बाधित हो सकता है। बैंकों में रखे जाने वाले प्रश्नांे को निकालना मुश्किल हो जाएगा।ड्ढr ड्ढr बैंक के द्वारा राशि निकासी व अन्य कायरे को भीपूरा कराने में दिक्कत होगी। इसको देखते हुए परीक्षाआें को स्थगित कर दिया गया है। समिति द्वारा जारी निर्देश के तहत 25 फरवरी को प्रथम पाली में होनेवाली रसायन विज्ञान द्वितीय पत्र, प्राचीन इतिहास, बिजनेस कॉमर्स एंड रिपोर्टिग व वोकेशनल कोर्स के राष्ट्रभाषा हिंदी और द्वितीय पाली में होनेवाली राजनीति विज्ञान द्वितीय पत्र की परीक्षा अब छह मार्च को होगी। वहीं 26 फरवरी को प्रथम पाली में होनेवाली विज्ञान व वाणिज्य के परीक्षार्थियों के लिए और दूसरी पाली में कला संकाय के परीक्षार्थियों के लिए लैंग्वेज एंड लिटरेचर कम्पलसरी प्रथम पत्र की परीक्षा अब सात मार्च को होगी। इस तरह अब चार मार्च को समाप्त होनेवाली इंटर की सैांतिक परीक्षाएं अब सात मार्च को समाप्त होंगी। ड्ढr सीवान में पुलिस की पिटाई से अभियुक्त की मौतड्ढr मैरवासीवान (ए.सं.ए.प्र.)। अवैध रूप से देसी शराब बेचने के आरोप में गिरफ्तार 35 वर्षीय अभियुक्त की कथित पिटाई के बाद हाजत में ही उसके दम तोड़ने से स्थानीय लोग भड़क उठे । मृतक अनिल साह जीरादेई थाने के जामापुर बाजार निवासी ठाकुरप्रसाद का पुत्र था। घटना के विरोध में आक्रोशित लोगों ने जामापुर बाजार की मुख्य सड़क पर आगजनी कर सड़क जाम कर दिया। विरोध कर रहे लोगों ने दारोगा अनिल दुबे पर हत्या की प्राथमिकी दर्ज करने व मृतक के परिजनों को मुआवजा देने की मांग कर रहे थे। सूत्रों के अनुसार उत्पाद विभाग के सहायक आरक्षी निरीक्षक अनिल दुबे बुधवार की शाम जामापुर से 3 व्यक्ित को लगभग 300 लीटर देसी शराब के साथ पकड़ा। मृतक के परिजनों नेबताया कि उत्पाद विभाग के दारोगा ने 15 हजार रुपए लेकर दो व्यक्ितयों को छोड़ दिया तथा अनिल साह से 10 हजार रुपए की मांग की। परिजनों का कहना था कि गुरुवार की सुबह पैसा लेकर छुड़ाने हाजत पहुंचे तो अनिल साह को मृत पाया। परिजनों का आरोप है कि पुलिस की पिटाई से अनिल की मौत हुई है। सहायक आरक्षी निरीक्षक अनिल दुबे ने पत्रकारों के समक्ष स्वीकार किया कि अनिल साह की मौत हाजत में हुई है। उन्होंने कहा कि परिजनों के मांगने पर बिना अंत्यपरीक्षण कराए लाश को सौंप दिया गया। उत्पाद विभाग के कर्मचारियों का कहना था कि अनिल साह को मिर्गी की बीमारी थी जिससे उसकी मौत हुई है। घटना के संबंध में उत्पाद विभाग का कोई भी कुछ बताने को तैयार नहीं था। उत्पाद अधीक्षक से भी पक्ष जानने का प्रयास किया गया परंतु मीडिया की नजरों से छुप गए।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बैंक हड़ताल के कारण दो दिनों की परीक्षा स्थगित