पैसे से अधिक खेल पर ध्यान -उथप्पा - पैसे से अधिक खेल पर ध्यान -उथप्पा DA Image
9 दिसंबर, 2019|3:54|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पैसे से अधिक खेल पर ध्यान -उथप्पा

टीम इंडिया के आक्रामक बल्लेबाज रोबिन उथप्पा ने कहा है कि उनका सपना मनी मनी नहीं है। वह खेल पर यादा ध्यान दे रहे हैं। उन्हें मुंबई की टीम ने तीन करोड़ 20 लाख रुपए में खरीदा है। उथप्पा ने कहा कि वह आईपीएल के पैसे के बारे में नहीं सोच रहे हैं बल्कि सीबी त्रिकोणीय सीरीज में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 24 फरवरी को होने वाले मैच पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि वह ऑस्ट्रेलिया दौरे को अपने करिअर का सबसे अच्छा दौर मान रहे हैं। त्रिकोणीय सीरीज में उथप्पा का प्रदर्शन औसत रहा है और वे सीरीज में 5, 0, 18 और 10 रन ही बना पाए हैं। फिर भी टूर्नामेंट में वे अपने प्रदर्शन से खुश हैं। वे कहते हैं यह आप पर निर्भर करता है कि आप इस बारे में किस नजरिए से सोचते हैं। अगर आप अच्छी बल्लेबाजी करते हैं और खुद पर विश्वास है तो आप अच्छा करंेगे। हां, यह सही है कि अंत में रन ही आपका विश्वास बढ़ाएंगे। मुझे काफी अवसर मिले हैं। मैं अपनी टीम की जीत में महत्वपूर्ण भूमिका भी निभा सकता था। उम्मीद करता हूं कि अभी और अवसर मुझे मिलेंगे और मैं अपने बल्ले से अच्छा योगदान दे सकूंगा। मुझे क्रीज पर टिकना है और विकेट पर कुछ वक्त बिताना है। उन्होंने कहा कि मैं अपनी तरफ से पूरी कोशिश कर रहा हूं। यह कुछ समय की बात है और बाद में मेरे बल्ले से रन निकलने लगेंगे। भारत के इस उभरते बल्लेबाज ने कहा कि मेरे लिए ही नहीं, बल्कि टीम के सभी युवा खिलाड़ियों के लिए यह दौरा सीखने का नायाब अवसर है। उन्होंने कहा कि अब वे जब घर लौटेंगे तो एक बेहतर खिलाड़ी होंगे। जब आप दुनिया की सर्वश्रेष्ठ टीम से उन्हीं के घर में खेल रहे होते हैं तो क्रिकेटर के रूप में बेहतर तौर से विकास करते हैं। उन्होंने कहा कि यह बोली क्रिकेटरों की दक्षता को देखकर लगाई गई हैं। हम क्रिकेट खेलते हैं, जोकि हमें पसंद है। अब जो पैसा आता यह यह हमारा बोनस है। उथप्पा ने कहा कि भारत ही एक ऐसी टीम है जिसको लेकर त्रिकोणीय श्रंखला के फाइनल में ऑस्ट्रेलिया चिंतित होगा। हम ही हैं जो ऑस्ट्रेलिया को हरा सकते हैं। हमने उन्हें 200 से पहले लुढ़काया है। हमें मालूम है कि यदि हमारी बल्लेबाजी क्िलक कर गई तो हम बाजी मार लेंगे। लेकिन साथ ही हमें यह भी ध्यान रखना चाहिए कि ऑस्ट्रेलिया में 200 बनाने का मतलब है, भारत में 280 रन बनाना। मैदान का साइज और स्थितियां यही स्कोरिंग पैटर्न सुझाती हैं। उन्होंने कहा कि हमें बहुत क्रिकेट खेलना है। कम से कम इस दौरे में चार मैच तो खेलने ही हैं। बाद में भी बहुत सा क्रिकेट है। दो दिन का विश्राम है सो हम बहुत जोर नहीं लगाना चाहते। हम कड़े अभ्यास में भी नहीं जुटना चाहते और न ही इत्मिनान से बैठना चाहते हैं। उथप्पा ने कहा कि हमने अभी तक जो पांच मैच खेले हैं उसमें कई उतार चढ़ाव आए हैं। एक बार यदि हम फाइनल में आते हैं तो मुझे पूरा विश्वास है कि टीम में सही कंबीनेशन आ जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पैसे से अधिक खेल पर ध्यान -उथप्पा