अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आम बजट में बिहार को विशेष पैकेज मिलने की उम्मीद

आम बजट पेश होने से पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार को विशेष राज्य का दर्जा और विशेष पैकेज की मुहिम छेड़ दी है। शुक्रवार को 1, अणे मार्ग में संवाददाताओं से बात करते हुए मुख्यमंत्री ने आम बजट में बिहार को विशेष पैकेज और बाढ़ नियंत्रण के लिए अधिकाधिक राशि मिलने की उम्मीद जतायी। हालांकि उन्हें आगामी रेल बजट से कोई विशेष अपेक्षा नहीं है। हां, वे इतना अवश्य चाहते हैं कि लालू प्रसाद ताउम्र रेल मंत्री रहें।ड्ढr ड्ढr श्री कुमार ने कहा कि बिहार को विशेष राज्य का दर्जा दिलाने के लिए वे सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल के साथ प्रधानमंत्री से मुलाकात का पिछले एक साल से प्रयास कर रहे हैं लेकिन समय नहीं मिला। दसवीं पंचवर्षीय योजना में केन्द्रीय एजेंसियों की सुस्त रफ्तार की वजह से बिहार में राष्ट्रीय सम विकास योजना की राशि लैप्स हो गयी। अब पूरे राज्य में आधारभूत संरचना का तेजी से विकास हो रहा है। इसलिए ग्यारहवीं पंचवर्षीय योजना में बिहार को सम विकास योजना के तहत अधिकाधिक राशि मिलनी चाहिए। रेल बजट की चर्चा छिड़ते ही मुख्यमंत्री ने कहा कि रेल बजट तो वार्षिक लेखा-जोखा मात्र है। अभी किराया नहीं बढ़ेगा लेकिन बाद में दूसरे उपायों से यात्रियों के जेब से पैसे निकाल लिये जायेंगे। रेलवे भरपूर मुनाफे में चल ही रहा है। अगर बिहार की पुरानी परियोजनाओं को ही पूरा कर दिया जाए तो बहुत होगा। पुरानी परियोजनाओं के लिए अतिरिक्त धन की जरूरत भी नहीं है। रेलवे को अपने मुनाफे का ही कुछ हिस्सा बिहार में भी खर्च करना चाहिए। जैसे जिस तरह रेलवे के विकास और मुनाफे का प्रचार हो रहा है, इससे तो यही अच्छा होगा कि कानून में संशोधन करके लालू प्रसाद को आजवन रेलमंत्री का पद दे दिया जाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आम बजट में बिहार को विशेष पैकेज मिलने की उम्मीद