अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

छात्रों को मुफ्त सॉफ्टवेयर देगा माइक्रोसॉफ्ट

बुलंदियों पर पहुंच चुकी माइक्रोसाफ्ट कंपनी की नजरें अब भविष्य की आेर लगी हैं। माइक्रोसाफ्ट अपने कुछ मूल साफ्टवेयरों को विश्वविद्यालय व स्कूल के विद्यार्थियों को देने वाली है ताकि इस तकनीक के साफ्टवेयर विकसित करने वालों की भावी पीढ़ी को अपने साथ जोड़ा जा सके। माइक्रोसाफ्ट द्वारा भविष्य के साफ्टवेयर इंजीनियरों को आकर्षित करने की यह कोशिश उसके उस लंबे संघर्ष का नीतिगत हिस्सा है, जिसकी चुनौती उसे अपनी प्रतिस्पद्र्धी कंपनियों की आेर मिल रही है। ऐसी प्रतिस्पद्र्धी कंपनियों में आईबीएम और एडोब शामिल हैं। इन दोनों कंपनियों ने विश्वविद्यालयों के कम्प्यूटर साइंस विभागों में अपनी पैठ बनानी शुरू कर दी है। नि:शुल्क साफ्टवेयर देने की इस योजना का खुलासा माइक्रोसाट कंपनी के चेयरमैन बिल गेट्स ने मंगलवार को स्टेनफोर्ड विश्वविद्यालय में दिए गए भाषण में किया। माइक्रोसाफ्ट प्रमुख के अनुसार, पूरी दुनिया में लगभग चार करोड़ विद्यार्थी हैं, जो गणित या विज्ञान संबंधी विषयों की पढ़ाई करते हैं। ऐसे विद्यार्थियों को साफ्टवेयर तक पहुंचना पड़ेगा। फाइनेंशियल टाइम्स को दिए गए एक साक्षात्कार में गेट्स ने कहा कि उनका उद्देश्य माइक्रोसाफ्ट तकनीक के भावी इंजीनियरों को सहयोग प्रदान करना और विंडो सर्वर और पर्सनल कम्प्यूटरों में प्रयुक्तसाफ्टवेयर के क्षेत्र में अनुसंधान की रफ्तार को तेज करना है। माइक्रोसाफ्ट इस उद्देश्य के मद्देनजर साफ्टवेयर के विकास और डिजाइन के लिए अपने साफ्टवेयर टूल पंजीकृ त विद्यार्थियों को बिना किसी शुल्क के प्रदान करेगी। इसकी शुरुआत अमेरिका, चीन और आठ यूरोपीय देशों से होनी है, जिनमें इंग्लैंड शामिल है। इसके साथ ही वचरुअल स्टूडियो का पूर्णत: पेशेवर वर्सन और डिजाइन टूल का सेट देने की योजना है, जिससे साफ्टवेयर इंजीनियर ऐसे प्रोग्राम बना सकेंगे जो विंडो पर संचालित हो सकेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: छात्रों को मुफ्त सॉफ्टवेयर देगा माइक्रोसॉफ्ट