DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब सीधे खान से कोयला लेगा यूपी

यूपी सरकार को बड़ी सफलता हाथ लगी है। केन्द्र ने यूपी सहित तीन राज्यों की बिजली उत्पादन के लिए कोयले की बढ़ती माँग पूरी करने के लिए पूरा कोल ब्लॉक आवंटित कर दिया है। दो अन्य राज्यों में छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र शामिल हैं। चालीस हजार करोड़ रुपए कीमत का यह कोल ब्लॉक उड़ीसा में छेदीपारा में स्थित है। कोल ब्लॉक के आवंटन से प्रदेश सरकार अपनी थर्मल पावर परियोजनाओं के लिए सीधे खान से कोयला ले सकेगा। अभी तक राज्य सरकार द्वारा कोयला कोल कंपनी से खरीदना होता था, जिससे काफी कठिनाइयाँ होती थीं।ड्ढr यूपी पॉवर कारपोरेशन के अध्यक्ष जीबी पटनायक ने दिल्ली में कोयला मंत्रालय में हुई बैठक के बाद इस फैसले की पुष्टि की। श्री पटनायक ने दावा किया कि यूपी के इतिहास में पहली बार पूरा कोल ब्लॉक आवंटित किया गया है। उन्होंने बताया कि कोल ब्लॉक में तीनों राज्यों में यूपी का हिस्सा 50 प्रतिशत, छत्तीसगढ़ का 31 प्रतिशत और महाराष्ट्र का 18 प्रतिशत होगा। कोल ब्लॉक से कोयला खनन का अधिकार प्राप्त करने के लिए तीनों राज्यों ने मिलकर एक संयुक्त कंपनी बनाई है। इस कंपनी में निदेशक मंडल में तीन सदस्य यूपी के, दो छत्तीसगढ़ के और एक महाराष्ट्र का होगा।ड्ढr तीस साल के लिए आवंटित इस कोल ब्लॉक की कीमत चालीस हजार करोड़ रुपए होगी। यूपी इस कोल ब्लॉक में से ओबरा थर्मल पावर हाउस की विस्तार परियोजनाओं में कोयला प्रयोग करेगा। लेकिन यूपी को यह भी अधिकार होगा कि वह अपनी सार्वजनिक क्षेत्र की अन्य थर्मल पावर परियोजनाओं के लिए भी इस कोल ब्लॉक के कोयले का प्रयोग करे। सीधे कोयले का खनन करने से प्रदेश को काफी सहूलियत हो जाएगी। लेकिन इस प्रक्रिया को अमलीजामा पहनाने में अभी समय लगेगा। उल्लेखनीय है कि हाल में मुख्यमंत्री मायावती ने प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह से मुलाकात में यूपी की बिजली उत्पादन की जरूरतों के मद्देनजर कोल ब्लॉक आवंटन का अनुरोध किया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अब सीधे खान से कोयला लेगा यूपी