अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कर्नाटक चुनाव पर भाजपा का दबाव

र्नाटक में राष्ट्रपति शासन की अवधि और छह माह बढ़ाने के खिलाफ भाजपा का दवाब जारी है। पार्टी इस रणनीति पर भी विचार कर रही है कि यदि वहां छह माह के भीतर चुनाव कराने में कांग्रेस या केंद्र सरकार की आेर से टालमटोल की जाती है तो फि र न्यायालय का दरवाजा खटखटाया जाए। कर्नाटक में भाजपा-जद सेकुलर के बीच विवाद पैदा होने की वजह से तीन माह पहले राष्ट्रपति शासन लगा दिया गया था। सोमवार को लोकसभाध्यक्ष सोमनाथ चटर्जी द्वारा बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में विपक्ष के नेता लालकृष्ण आडवाणी ने कर्नाटक में राष्ट्रपति शासन जारी रखने की मंशा का विरोध किया। भाजपा पिछले सप्ताह चुनाव आयोग को साफ कह चुकी है कि कर्नाटक में दो माह बाद चुनाव कराए जाएं। सरकार की रणनीति यह है कि कर्नाटक में जून के बाद भी और छह माह के लिए राष्ट्रपति शासन जारी रखा जाए ताकि इस साल के आखिर तक कर्नाटक में सत्ता की चाबी केंद्रीय शासन के जरिए कांग्रेस के हाथ मंे बनी रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: कर्नाटक चुनाव पर भाजपा का दबाव