DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

फर्जी अफसर की धुनाई

खुद को रेलवे अधिकारी बता कर पटना जंक्शन पर तैनात कुछ टीसी व टीटीई पर रौब झाड़ना बहरूपिये जालसाज एस. के. वर्मा को रविवार को महंगा पड़ा। रेलकर्मियों ने संदेह पर जालसाज को दबोच लिया और धुनाई करते हुए रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) पोस्ट के हवाले कर दिया। ृइस बीच आरपीएफ इंस्पेक्टर ए.एस. सिद्दीकी ने बताया कि आरोपित पर बिना टिकट होने और झंझट करने का आरोप टीसी ने लगाया है। इधर सूत्रों की मानें तो कुछ बड़े पुलिस अधिकारियों के दबाव में आरोपित पर कम से कम आरोप लगाये गये हैं ताकि उसे परेशानी नहीं हो।ड्ढr ड्ढr बताया जाता है कि प्लेटफॉर्म संख्या एक पर शाम में जालसाज एस.के. वर्मा (पत्रकारनगर) पहुंच गया और वहां ड्यूटी कर रहे टीसी आदि को यह कहते हुए डांटना शुरू कर दिया। इसी क्रम में वहां मौजूद रेलकर्मियों को आशंका हुई। इसके बाद पूछताछ में मामला गड़बड़ देख रेलकर्मियों ने जालसाज को पकड़ लिया। वहीं आरोपित ने बताया कि उसका नाम आर.के. सिंह (मुगलसराय निवासी) और वह घटना में शामिल नहीं है।ड्ढr ड्ढr प्लेटफॉर्म पर तीन शातिर चोर रंगेहाथ धरायेड्ढr पटना (का.सं.)। ट्रेन पर चढ़ने के समय भीड़भाड़ वाले स्थानों पर घेराबंदी करके यात्रियों का मोबाइल व अन्य सामान गायब करने वाले गिरोह के तीन शातिर चोरों को लोगों ने पकड़ कर धुनाई करने के बाद रेल पुलिसड्ढr थाने के हवाले कर दिया। पूछताछ के बाद सभी आरोपितों धर्मेन्द्र कुमार (कंकड़बाग), करमू कुमार (सरिस्ताबाद) और नवीन कुमार (दानापुर) को रेल पुलिस ने जेल भेज दिया। चोरों के पास से एक मोबाइल बरामद किया गया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: फर्जी अफसर की धुनाई