अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सेंसेक्स ने 302 अंक की छलांग लगाई

देश के शेयर बाजारों में सोमवार को इंजीनियरिंग, रियलटी, तेल और धातु क्षेत्र की कंपनियों को मिले समर्थन से अच्छी बढ़त दर्ज की गई। बंबई शेयर बाजार (बीएसई) सेंसेक्स ने 302 और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के निफ्टी 100 अंक की छलांग लगाई। कारोबार के दौरान निरंतर उठापटक देखने को मिली। सत्र की शुरुआत में ऊंचा खुला बाजार दोपहर तक गिरावट में आ गया। इसके बाद फिर लिवाली का समर्थन मिलने से बाजार ने पलटी मारी। एशिया के शेयर बाजारों से मिले जुले समाचार थे। जापान का ‘निक्केई’ छह सप्ताह के उच्च स्तर पर बंद हुआ, जबकि हांगकांग का ‘हैंगसैंग’ और चीन का शंघाई कम्पोजिट नीचे थे। पाकिस्तान का कराची शेयर बाजार का सूचकांक भी शुरू में ऊपर खुलने के बाद बढ़त को बरकरार नहीं रख सका। ब्रिटेन के शेयर बाजार ऊपर खुले हैं। कारोबारियों के मुताबिक गुरुवार को चालू माह के लिए वायदा एवं विकल्प कारोबार का निपटान होना है। इसे देखते हुए कुछ शार्ट कवरिंग के लिए लिवाली देखी गई। सेंसेक्स शुक्रवार के 173407 अंक की तुलना में 17523.81 अंक पर ऊंचा खुला और ऊपर में 17674.06 तथा नीचे में 17137.अंक तक गिरने के बाद समाप्ति पर कुल 301.50 अंक अर्थात 1.74 प्रतिशत ऊपर बंद हुआ। सेंसेक्स में अच्छी बढ़त के बावजूद बीएसई के मिडकैप और स्मालकैप में नुकसान देखा गया। अन्य वगर्ों में इंजीनियरिंग, धातु, आयल एंड गैस, रियलटी और सूचना प्रौद्योगिकी कंपनियों के सूचकांक ऊंचे रहे। एनएसई का निफ्टी अंक अर्थात 1.76 प्रतिशत की बढ़त से 5200.70 अंक पर बंद हुआ। बीएसई में मझौली और लघु कंपनियों के शेयरों में बिकवाली के चलने से रुख नकारात्मक रहा। कुल 2740 कंपनियों के शेयरों में कामकाज हुआ और इसमें से 1074 अर्थात 30 प्रतिशत के शेयर ही मुनाफे में रहे। पंद्रह सौ छियानवे अर्थात 58.25 प्रतिशत कंपनियों के शेयरों में गिरावट और 70 में स्थिरता थी। सेंसेक्स की तीस कंपनियों में 26 ऊपर और चार के शेयर नीचे आए। एचडीएफसी बैंक और सेंचुरियन बैंक ऑफ पंजाब के विलय के लिए शेयरों का जो अनुपात तय हुआ है, उससे निवेशक खुश नहीं दिखे और इसके चलते एचडीएफसी बैंक का शेयर ऊपर खुलने के बावजूद समाप्ति पर 3.54 प्रतिशत अर्थात 52.25 रुपए के नुकसान से 1422.70 रुपए रह गया। कारोबार के शुरु में यह 140 रुपए पर खुला और ऊंचे में 1524 तथा नीचे में 130 रुपये तक गिरा। बजाज आटो, हिन्दुस्तान यूनीलीवर और महिन्द्रा एंड महिन्द्रा के शेयर सेंसेक्स के घाटे वाले अन्य शेयर थे। सेंसेक्स के फायदे वाले शेयरों में सर्वाधिक बढ़त सीमेंट कंपनी एसीसी के शेयर में थे। इसका शेयर 44.05 रुपये अर्थात 5.6प्रतिशत बढ़कर 818.35 रुपये पर पहुंच गया। सेंसेक्स में सर्वाधिक भारांक रखने वाले रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर में 2551.70 रुपये पर 5.02 प्रतिशत अर्थात 121.0 रुपये की तेजी रही। रिलायंस एनर्जी का शेयर 4.2प्रतिशत अर्थात 66.80 रुपए की बढ़त से 1622.70 रुपए पर पहुंच गया। रुपये की कमजोरी को देखते हुए सूचना प्रौद्योगिकी कंपनियों के शेयरों को खासी राहत मिली है। इस क्षेत्र की विप्रो, सत्यम कंप्यूटर और इन्फोसिस टेकनोलोजीस के शेयरों में दो से लेकर चार प्रतिशत तक की बढ़त देखी गई। ग्रासिम इंडस्ट्रीज, मारुति सुजूकी, एनटीपीसी, हिंडाल्को, रैनबैक्सी लैब, एलऐंडटी, सिप्ला लिमिटेड, टाटा मोटर्स, रिलायंस कम्युनीकेशंस, आेएनजीसी, भेल, आईसीआईसीआई बैंक और आईटीसी के शेयर सेंसेक्स के फायदे वाले शेयरों की सूची में थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सेंसेक्स ने 302 अंक की छलांग लगाई