DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भागलपुर दंगा पीड़ितों ने राजभवन को घेरा

मुस्लिम युनाईटेड फ्रंट के बैनर तले भागलपुर दंगा पीड़ितांे ने सोमवार को राजभवन व आर ब्लाक चौराहा को घंटांे घेरे रखा। फ्रंट के प्रधान महासचिव ऐजाजुद्दीन अंसारी के नेतृत्व में काफी संख्या में महिलाएं राजभवन के अंदर घुसने का प्रयास कर रही थीं, जिनको गिरफ्तार भी किया गया और बाद में रिहा कर दिया गया। इसी प्रकार लंगर टोली से निकाला एक मार्च सब्जीबाग, पीरबहोर, गांधी मैदान, पटना जंक्शन होते आर ब्लाक पहुंचा। इनलोगों की मांग थी कि भागलपुर दंगा पीड़ितों को भी केंद्र सरकार द्वारा 1े सिख दंगे के समान दी गयी विशेष सहायता राशि साढ़े तीन लाख रुपये व स्पेशल पैकेज मिले। आर ब्लाक पर आयोजित सभा को संबोधित करते हुए फ्रंट के अध्यक्ष अबु कैसर ने कहा कि मुआवजा देने में केंद्र सरकार भेद-भाव कर रही है। 17 वषरे तक केंद्र व बिहार की यूपीए सरकार भागलपुर दंगा पीड़ितों की कोई सुध नहीं ली। श्री कैसर के नेतृत्व में प्रो. असफाक अहसन, वलीउर्रमान, ऐजाम अहमद व गुलाम सरवर आजाद राजभवन में प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। नौकर-दाई संघ ने किया विधान सभा का घेरावड्ढr पटना (हि.प्र.)। अखिल भारतीय नौकर-दाई महासंघ के नेतृत्व में सैकड़ांे कार्यकर्ताआें ने सोमवार को कारगिल चौक से मार्च करते हुए विधान सभा का घेराव किया। कारगिल चौक पर सभा को संबोधित करते हुए राजद अकलियत कमिटी के मुख्य प्रवक्ता रईस आजम ने कहा कि गरीबों को रोटी, नौकरी व बिजली के नाम पर नीतीश सरकार लाठी व गोली बरसा रही है। महासंघ के अध्यक्ष अख्तर नेहाल ने कहा कि ढाई वर्ष में सरकार एक भी गरीब को पक्का मकान नहीं दिया। जॉबकार्ड पर रोजगार नहीं मिल रहा है। इस कारण गरीबों को सड़क पर उतरना पड़ रहा है। इस अवसर पर मंटू सिंह, मुख्तार अहमद, शिव पासवान, नौशाद हाशमी, कांती देवी, फिरोज, रमेश, जावेद, रामजी राम, अनिल कुमार, गोपाल ठाकुर, बेबी खातून आदि ने अपने विचार रखे।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: भागलपुर दंगा पीड़ितों ने राजभवन को घेरा