DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीपी शर्मा-अमिताभ छुट्टी परबसु को सीएस का प्रभार

सरकार ने अपने एक महत्वपूर्ण फैसले में सोमवार को मुख्य सचिव पीपी शर्मा को लंबी छुट्टी पर भेजकर श्रीकृष्ण लोक प्रशासन संस्थान के महानिदेशक एके बसु को नये मुख्य सचिव का प्रभार सौंप दिया। श्री शर्मा के 25 फरवरी के अपराह्न् से छुट्टी पर जाने के कुछ ही घंटे बाद शाम लगभग साढ़े चार बजे बसु ने सीएस का प्रभार (एज्युम) भी ग्रहण कर लिया। शर्मा ने दोपहर लगभग एक बजे अर्जित अवकाश पर जाने का आवेदन दिया था। उसी के बाद घटनाक्रम तेजी से आगे बढ़ा और सरकार ने बसु को मुख्य सचिव का प्रभार देने का फैसला किया। उधर देर रात सीआइडी के आइजी अमिताभ चौधरी को भी एक महीने की छुट्टी दे दी गयी।ड्ढr मालूम हो कि गृह विभाग ने उनके निलंबन की भी अनुशंसा की थी। उल्लेखनीय है कि 22 फरवरी को कैबिनेट की बैठक के दौरान ही मानव संसाधन विकास मंत्री बंधु तिर्की सहित कई मंत्रियों ने पीपी शर्मा पर कतिपय आरोप लगाते हुए उन्हें मुख्य सचिव पद से हटाने की मांग की थी।इन मंत्रियों ने धमकी थी कि श्री शर्मा को हटाये जाने के बाद ही अब कैबिनेट की अगली बैठक होगी। 1बैच के आइएएस अधिकारी एके बसु राज्य के नौवें मुख्य सचिव हैं। वह एक सितंबर 200ो सेवानिवृत्त होंगे। 1बैच के निवर्तमान मुख्य सचिव पीपी शर्मा एक अगस्त 2008 को सेवानिवृत्त होनेवाले हैं।ड्ढr विकास ही होगी प्राथमिकता : बसुरांची। झारखंड के नये मुख्य सचिव एके बसु ने कहा है कि विकास ही उनकी पहली प्राथमिकता होगी। सोमवार को यहां मुख्य सचिव का अतिरिक्त प्रभार ग्रहण करने के बाद वे ‘हिन्दुस्तान’ के साथ बातचीत कर रहे थे। यह पूछने पर कि झारखंड के वर्तमान राजनीतिक माहौल में वह क्या करना चाहेंगे? इसे किस रूप में देख रहे हैं, बसु ने कहा कि झारखंड में जो वातावरण है, उसी में और विकास को और गति देने की कोशिश करेंगे। रास्ता निकालना चाहेंगे। यही उनके सामने चैलेंज भी है। यह पूछने पर कि दामोदर वैली कारपोरेशन (डीवीसी) में काफी दिनों तक आप रहे, बिजली का बेहतर अनुभव है और राज्य में अभी बिजली की स्थिति काफी दयनीय है, उन्होंने कहा कि बिजली का उत्पादन प्लांट लोड फैक्टर-पीएलएफ) बढ़ना चाहिए। ट्रांसमिशन सिस्टम दुरुस्त होना चाहिए। ट्रेडिंग की भी जरूरत है। आपके मन में राज्य के विकास के लिए कोई ड्रीम प्रोजेक्ट? बसु ने कहा -फिलहाल अभी नहीं। शर्मा-चौधरी खुद छुट्टी पर गये भेजा नहीं : मुख्यमंत्री मुख्यमंत्री मधु कोड़ा ने कहा है कि उन्होंने पीपी शर्मा के लंबी छुट्टी पर जाने के कारण एटीआइ महानिदेशक एके बसु को मुख्य सचिव का अतिरिक्त प्रभार दिया है। उन्होंने दावा किया कि पीपी शर्मा और अमिताभ चौधरी को छुट्टी पर जाने के लिए सरकार की ओर से उन पर कोई दबाव नहीं डाला गया। उन्होंने कहा कि वे क्यों छुट्टी पर गये, यह उन्हीं से पूछा जाये। कोई भी व्यक्ित छुट्टी पर तो जा ही सकता है। उन्हें सरकार ऐसा करने से रोक भी नहीं सकती। कोड़ा उन प्रश्नों का जवाब दे रहे थे जिसमें उनसे पूछा गया था कि क्या वजह हुई कि बसु को सीएस का प्रभार देना पड़ा। सरकार के दबाव में तो शर्मा छुट्टी पर नहीं गये।ड्ढr इससे पहले दिन में जब मुख्यमंत्री से यह पूछा गया था कि शिक्षा मंत्री बंधु तिर्की व अन्य मंत्रियों की मांग के बाद शर्मा को हटाये जाने के बाद क्या अब आइजी अमिताभ चौधरी पर भी कार्रवाई होगी। मुख्यमंत्री ने स्पष्ट किया था कि संचिका देखने के बाद कार्रवाई करेंगे। देर शाम उन्होंने गृह विभाग द्वारा निलंबन की अनुशंसा संबंधी संचिका देखने के बाद चौधरी को भी छुट्टी पर जाने का दबाव दिया। फिर उनके छुट्टी के आवेदन को स्वीकृत कर दिया गया। शर्मा के ऊपर लगे आरोपों के संबंध में मुख्यमंत्री ने कहा कि उन पर प्रमोशन से जुड़ा मामला है। यह विषय अभी कोर्ट में है। कोर्ट का फैसला आने के बाद ही वह कोई कार्रवाई करेंगे। एके चुग और अब पीपी शर्मा के लंबी छुट्टी पर चले जाने के कारण मुख्यमंत्री ने स्वीकार किया कि मुख्य सचिव संवर्ग में प्रमोशन के लिए डीपीसी की बैठक होगी। उसमें उपयुक्त अधिकारी को प्रमोशन का लाभ मिलेगा। नामअवधिड्ढr वीएस दुबे15.11.2000 से 31.07.2002ड्ढr जीएस कृष्णन01.08.2002 से 31.03.2003एके मिश्रा01.04.2003 से 31.10.2003ड्ढr लक्ष्मी सिंह01.11.2003 से 13.12.2004ड्ढr पीपी शर्मा14.12.2004 से 18.01.2006एमके मंडल101.2006 से 28.02.2007ड्ढr एके चुग (प्रभार)01.03.2007 से 15.08.2007ड्ढr पीपी शर्मा16.08.2007 से 25.02.2008एके बसु (प्रभार) 25.02.ड्ढr 2008 से

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पीपी शर्मा-अमिताभ छुट्टी परबसु को सीएस का प्रभार