DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लालू फीलगुड के शिकार:नीतीश

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि रेल मंत्री लालू प्रसाद फीलगुड के शिकार हैं। रेल मंत्री का बजट भाषण आत्म-मुग्धता और आत्म प्रशंसा से भरा हुआथा। रेल मंत्री ने पुरानी परियोजनाआें को ठंडे बस्ते में डाल दिया है। लालू खुद रेलवे का निजीकरण कर रहे हैं और कॉम्प्लेक्स के शिकार हैं। मुख्यमंत्री ने रेल मंत्री को सलाह दी कि रेल मंत्री को लंबा भाषण नहीं देना चाहिए। लोगों को ऊब होने लगती है। उन्होंने रेल बजट को दिशाहीन और निराशाजनकड्ढr ड्ढr बजट बताते हुए कहा कि रेल मंत्री पैरोडी करते नजर आए। रेल मंत्री डिविडेंड को लेकर हमेशा असत्य दुहराते रहते हैं। उनके कार्यकाल के दौरान डिविडेंड डेफर हुआ था,लेकिन उसे शुरू कर दिया गया था। रेल मंत्री ने रेलवे के विस्तार की कोई कार्ययोजना नहीं पेश की। उन्होंने रेल मंत्री द्वारा पेश बजट को भविष्य का बजट बताते हुए कहा कि अभी भाड़ा तो नहीं बढ़ा है,लेकिन कब क्या होगा कोई कुछ नहीं कह सकता। ऐसा पहले हो चुका है। यात्रियों की सुविधाआें के बारे में तो कोई योजना ही नहीं है। रेल पटरियों के विस्तार की भी कोई योजना नहीं है।ड्ढr मुख्यमंत्री ने कहा कि रेलवे के पास 25 हजार करोड़ रुपए का सरप्लस है तो बजटरी सपोर्ट क्यों मांग रहे हैं। रेल मंत्री ने यह भी नहीं बताया कि सरप्लस में से कितना अपनी योजना के लिए निवेश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह केवल आंकड़ों का खेल है। उन्होंने कहा कि एनडीए के जमाने में 17 हजार करोड़ रुपए की सेफ्टी योजना शुरू की गई थी उसी का लाभ रेलवे को मिल रहा है। इसकी चर्चा रेल मंत्री नहीं करते, क्योंकि वे कॉम्प्लेक्स के शिकार हैं। वे बार-बार असत्य दुहराते हैं और सच्चाई से कतराते हैं। बिहार की प्रतिद्वंद्विता को रेल तक ले जाते हैं।ड्ढr लालू के गांव फुलवरिया के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि यह बहुत छोटी बात है। फुलवरिया बिहार में ही है। रेल मंत्री जहां चाहें रेल चलाएं लेकिन पुरानी योजनाआें पर अमल कराएं। कीर्तिमान बजट:राबड़ीड्ढr पटना (हि.ब्यू.)। विधानसभा में प्रतिपक्ष की नेता राबड़ी देवी ने रेल बजट को विश्व का कीर्तिमान बजट कहा है। उन्होंने कहा कि रेलवे ने बगैर कोई भाड़ा बढ़ाए 25 हजार करोड़ रुपये का मुनाफा कमाकर एक मिसाल कायम की है। रेल बजट में समाज के सभी वगरे का ध्यान रखते हुए महिलाआें, विद्यार्थियों और वरिष्ठ नागरिकों के लिए विशेष रियायत की घोषणा की गई है। बिहार को यह बजट विकास की नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने वाला होगा। इसमें बिहार के लिए कुल 11 नई रेल लाइन परियोजनाआें को मंजूरी दी गई है। इसके अतिरिक्त रेलमंत्री ने पूर्व में स्वीकृत कुल 23 रेलवे लाइन की परियोजनाआें के लिए आवश्यक धनराशि देकर कार्य आरम्भ करने का आदेश भी निर्गत कर दिया। उन्होंने कहा है कि रेलमंत्री ने यह साबित किया है कि वे केवल घोषणा करने वाले ही नहीं बल्कि उन्हें अमल में भी लाने वाले हैं। राबड़ी देवी ने कहा है कि रेल मंत्री ने बजट में सात छोटी लाइनों को बड़ी लाइन में परिवर्तित करने की स्वीकृति दी है। बजट में यात्री किराया घटाने की घोषणा की गई है। लाइसेंसधारी कुली को गेटमैन और गैंगमैन में नियुक्त करने की घोषणा कर रेलमंत्री ने गरीब परिवारों को रेलवे के विकास से जोड़ा है। बजट में बिहार को न केवल नई रेलगाड़ियां मिली हैं बल्कि कई रेलगाड़ियों के परिचालन क्षेत्र का विस्तार भी किया गया है। मालगाड़ियों के किराये में 14 प्रतिशत की कमी की घोषणा की गई है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: लालू फीलगुड के शिकार:नीतीश