अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एपवा ने निकाला विरोध मार्च

शहवाजपुर गांव की ललिता देवी के साथ हुए बीते सोमवार को बलात्कार की घटना के अपराधियों को गिरफ्तार करने चिकित्सा प्रभारी डॉ. नीलम सिन्हा का मेडिकल जांच के दौरान बदसलूकी करने एवं थानाध्यक्ष के द्वारा मामले को दबाने का आरोप लगाते हुए भाकपा-माले एवं एपवा की कार्यकर्ताओं ने बिहटा में एक विरोध मार्च निकाला। जो बाजार से होते हुए डोमिनिया पुल के पास जाकर सभा में तब्दील हो गया।ड्ढr ड्ढr सभा में सूबे की सरकार को निशाना बनाते हुए कार्यकर्ताओं ने कहा कि इस सरकार में अपराधियों का मनोबल बढ़ा है तथा नौकरशाह बेलगाम हो चुके हैं। जिसका जीता जागता उदाहरण है यह बलात्कार कांड। जिसके पीड़िता की न तो अभी तक मेडिकल जांच हुई है न ही अपराधियों की गिरफ्तारी की गई है। उन्हें पीड़िता को ही तरह-तरह से दबाव देते हुए मामले को रफा-दफा करना चाह रही है। प्रदर्शन में शामिल लोगों में गोपाल सिंह, रीता गुप्ता, माधुरी गुप्ता, रविदास आदि प्रमुख थे। अंतिम समाचार मिलने तक थानेदार ने बताया कि बिहटा व दानापुर में मेडिकल टेस्ट कराया गया है, जहां दुष्कर्म करने की पुष्टि नहीं हुई है। अब उसे पटना भेजा जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: एपवा ने निकाला विरोध मार्च