DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आर्थिक सर्वेक्षण में विकास दर पर होगी नजर

वित्तमंत्री पी. चिदंबरम गुरुवार को संसद में आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट पेश करेंगे। सदन के पटल पर रखी जाने वाली इस रिपोर्ट में देश की अर्थव्यवस्था में और जान फूंकने के उपायों और अर्थव्यवस्था की राह में रोड़ा बनने वाले कारकों का मुकम्मल जिक्र होगा। मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद विरमानी द्वारा तैयार यह रिपोर्ट ऐसे वक्त सदन में पेश की जा रही है, जब अमेरिकी आथिर्क संकट की सूरत में भारत की आर्थिक विकास दर में गिरावट की संभावना व्यक्त की गई है। आर्थिक सर्वेक्षण 2007-2008 में कई ऐसे आर्थिक मसलों का जिक्र होगा जो सरकार के लिए चिंता का सबब रहें हैं। इन मसलों पर आर्थिक सर्वेक्षण रिपोर्ट के अधिक मुखर होने की संभावना है। इसमें मुद्रास्फीति दर को संतुलित बनाए रखने, निर्यात क्षेत्र में गिरावट के सिलसिले को थामने, डॉलर के मुकाबले रुपये के मूल्य में गिरावट से पैदा हुई स्थिति से निबटने और तेल की वैश्विक कीमतों में बढ़ोतरी के परिणामों से निपटने के उपायों पर व्यापक चर्चा होगी। इसमें संप्रग सरकार की उपलब्धियों की गुलाबी तस्वीर पेश किए जाने की संभावना है। कई राज्यों में होने वाले चुनाव और आगामी आम चुनाव के मद्देनजर सरकार द्वारा इस आर्थिक रिपोर्ट के बहाने जनता को सब्जबाग दिखाने की कोशिशें भी हो सकती हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आर्थिक सर्वेक्षण में विकास दर पर होगी नजर