DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नीतीश गए ‘फ्लैशबैक’ में,विधायक हैरत में पड़े

‘वे भी क्या दिन थे, जब हम और जगदा भाई (जगदानन्द) एक ही रिक्शे पर विधानसभा आते-जाते थे। एक तरफ का एक रुपया किराया जगदा भाई देते थे तो दूसरी ओर का हम।’ बुधवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का राजनीतिक जीवन के ‘फ्लैशबैक’ में जाना, नये विधायकों को हैरत में डाल गया कि मुख्यमंत्री की कुर्सी पर बैठा यह व्यक्ित भी कल तक आम आदमी की तरह ही रिक्शे पर घूमता था।ड्ढr ड्ढr विधानसभा स्थित अपने कमरे में बैठे मुख्यमंत्री ने जब यह कहा कि पंद्रह-बीस साल पहले आज जैसा रुतबा थोड़े हीड्ढr था, तो यकीनन उनका इशारा विधानमंडल परिसर में महंगी-लग्जरी गाड़ियों की कतार पर था जिनकी बदौलत आम जनता का प्रतिनिधि ‘खास’ जैसा दिखने लगता है। श्री कुमार अपने अनुभवों के आधार पर विधायकों को पॉलीटिकल पर्सन (राजनीतिक व्यक्ित) से पॉलिसीमेकर (नीति निर्धारक) बनने का गुर सिखाते हैं ‘सरकारी बस, रिक्शा और मोटर साइकिल जैसी जनसवारी की सफर ने जनता के साथ निकटता तो बढ़ाई ही इससे कल्याणकारी योजनाओं के लिए दिशा और दृष्टि भी मिली।’ महात्मा गांधी की पंक्ितयों को भी याद रखना चाहिए कि ‘अंधेरा दिखाई पड़े तो लोगों के बीच आओ।’ गुजरे जमाने को याद करते हुए वे बोले- क्षेत्र में जाने के लिए सरकारी बस या मोटर साइकिल का ही सहारा था। कभी-कभी किराये का भुगतान करके रहुई या हरनौत प्रखंड की गाड़ी का उपयोग करते थे। कई बार सरकारी बस छूट जाने पर मोटर साइकिल से ही हरनौत जाना पड़ता। हां, तब रास्ते में एक पागल कुत्ते से जरूर बचना पड़ता था। अचरज में पड़े विधायकों को उन्होंने यह कहकर और भी अवाक कर दिया कि ट्रेन की एसी बोगी के दर्शन भी तभी हुए जब मैं पहली बार विधायक बना।ड्ढr ड्ढr कपरूरी जी युवा लोकदल का अध्यक्ष बनाना चाहते थे पर मैं लगातार टालमटोल कर रहा था। हरनौत के एक किसान ने टोका- क्यों बार-बार क्षेत्र में चले आते हैं? स्टेट की पालीटिक्स कीजिए। मुझे सलाह ठीक लगी। मैं कपरूरी जी से मिला और उन्होंने युवा लोकदल की जिम्मेदारी सौंप दी। उनके निधन के बाद राजनीति का अचानक पुरानी से नयी पीढ़ी को हस्तांतरण हो गया। इसी समय देवीलाल ने एक जीप दी। पहली बार सांसद भी बने तो टेम्पो से ही लोकसभा जाते थे। बाद में मेटाडोर से आने-जाने लगे। आज वाली बात नहीं। अब तो अरबपति लोग यहां आते हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नीतीश गए ‘फ्लैशबैक’ में,विधायक हैरत में पड़े