अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बुन्देलखण्ड में पेयजल समस्या पर बहिर्गमन

समाजवादी पार्टी के सदस्यों ने बुन्देलखण्ड में पेयजल की समस्या तथा हैण्डपम्प न लगाए जाने का मामला बुधवार को विधानसभा में जोरशोर से उठाया और सरकार के रवैये के विरोध में सदन का बहिर्गमन किया। राज्य सरकार ने सदन को आश्वस्त किया कि सरकार बुन्देलखण्ड में पेयजल का संकट नहीं आने देगी।ड्ढr शून्यकाल में सपा के अशोक चंदेल ने कार्यस्थगन प्रस्ताव के जरिए यह मामला उठाया। उन्होंने कहा कि बुन्देलखण्ड में पुरानी पेयजल योजनाएँ ध्वस्त पड़ी हैं। पर्याप्त हैण्डपम्प नहीं लगाए जा रहे हैं। ग्राम्य विकास विभाग तो कुछ हैण्डपम्प लगा भी रहा है, नगरों में नगर विकास विभाग ने तो एक भी हैण्डपम्प नहीं लगाए। ऐसे में आने वाला समय और भी मुश्किलों भरा होगा। इसी पार्टी के विशम्भर प्रसाद ने कहा कि तिन्दवारी में लोगों ने पैसा जमा कर दिया है। फिर भी हैण्डपम्प नहीं लग रहे हैं। संसदीय कार्य मंत्री लालजी वर्मा ने कार्यस्थगन प्रस्ताव का विरोध करते हुए कहा कि बुन्देलखण्ड की पेयजल समस्या को लेकर सरकार सजग है। सात जनपदों में 4682 नए हैण्डपम्प लगाए गए हैं जबकि 65हैण्डपम्पों को रिबोर किया गया है। ग्राम्य विकास मंत्री दद्दू प्रसाद ने कहा कि सरकार ने पेयजल की समस्या के समाधान के लिए कई महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बुन्देलखण्ड में पेयजल समस्या पर बहिर्गमन