DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

किसानों के पैकेज को लेकर संसद ठप

बजट से दो दिन पूर्व किसानों के लिए विशेष पैकेज की मांग करते हुए विपक्ष ने बुधवार को संसद के दोनों सदनों में जमकर शोरगुल किया और संसद की कार्यवाही नहीं चलने दी। हंगामे के कारण संसद में प्रश्नकाल नहीं हो सका। संयुक्त राष्ट्रीय प्रगतिशील गठबंधन और राजग के सदस्य सदन की कार्यवाही शुरू होते दोनों सदनों में आसन के सामने मोर्चा खोलकर बैठ गए और उन की जोरदार नारेबाजी से संसद गूंजता रहा। लोकसभा और रायसभा की कार्यवाही इस वजह से पहले दोपहर बारह बजे तक और फिर दिन भर के लिए स्थगित करनी पड़ी।ड्ढr ड्ढr रायसभा में उप सभापति के रहमान खान इस शोरगुल से क्षुब्ध दिखाई दिए और उन्होंनेसदस्यों को फटकार बताते हुए कहा कि यह सदन आंदोलन का अड्डा नहीं है। आंदोलन करना है तो बाहर जाइए। लेकिन उनकी फटकार का भी सदस्यों पर कोई असर नहीं हुआ। आखिरकार उन्होंने कार्यवाही गुरुवार तक के लिए स्थगित कर दी। लोकसभा की कार्यवाही भी इन्हीं हालात में गुरुवार तक के लिए स्थगित कर दी गई। प्रात:लोकसभा की कार्यवाही शुरू होते ही समाजवादी पार्टी के सदस्य किसानों की कर्ज माफी और सूखाग्रस्त इलाकों में सिंचाई सुविधाआें के विस्तार की मांग को लेकर अध्यक्ष के आसन के सामने आकर नारेबाजी करने लगे। भाजपा और अकाली दल के सदस्य भी उनके साथ नारेबाजी कर रहे थे। श्री चटर्जी ने हंगामा करने वाले सदस्यों को चेतावनी देते हुए कहा कि बिना किसी पूर्व सूचना के सदन की कार्यवाही बाधित करने वाले सदस्यों के नाम लिखकर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। श्री चटर्जी की इस चेतावनी काभी सदस्यों पर कोई असर नहीं हुआ और उन्होंने नारेबाजी जारी रखी। राजद सदस्यों ने आसन के पास आकर महाराष्ट्र में उत्तर भारतियों के ऊपर हो रहे हमले का भी विरोध किया। श्री सोमनाथ चटर्जी ने सदन की कार्यवाही दोपहर 12 बजे तक के लिए स्थगित कर दी। सदन की कार्यवाही 12 बजे जैसे ही शुरू हुई तो फिर वही नजारा था और अध्यक्ष ने सदन की कार्यवाही बुधवार तक के लिए स्थगित कर दी।ड्ढr ड्ढr रायसभा में प्रश्नकाल शुरू होते ही राजग और अन्य विपक्षी सदस्यों ने किसानों के मुद्दे पर जमकर नारेबाजी शुरु कर दी। भाजपा सहित विपक्षी दलों के कई सदस्य सभापति के आसन के सामने पहुंच गए थे। वे लाठी गोली खाएंगे किसानों को उनका हक दिलवाएंगे, किसानों का कर्ज माफ करो जैसे नारे लगा रहे थे। विपक्ष के हंगामे को देखते हुए सभापति हामिद अंसारी ने कार्यवाही 1200 बजे तक के लिए स्थगित कर दी। फिर 12 बजे दुबारा हंगामा शुरू होने पर उपसभापति ने बिना किसी चर्चा के प्रसूति प्रसुविधा ( संशोधन ) विधेयक पारित करवाया। सदन की कार्यवाही बुधवार तक के लिए स्थगित कर दी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: किसानों के पैकेज को लेकर संसद ठप