DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पेस की कप्तानी बरकरार टीम में भी बदलाव नहीं

अखिल भारतीय टेनिस संघ (आयटा) देश में आए टेनिस संकट से निपटने का पूरा प्रयास कर रहा है लेकिन मामला इतना उलझा हुआ है कि कुछ बात नहीं बन रही। आयता के अधिकारियों ने गुरुवार को बैठक करके डेविस कप कप्तान लिएंडर पेस के विरुद्ध किए जा रहे खिलाड़ियों के विद्रोह का हल निकालने का प्रयास किया पर वे इतना ही निर्णय कर पाए कि जापान के विरुद्ध 11 अप्रैल से होने वाले मुकाबले के लिए पेस को कप्तान बनाया रखा जाए और टीम में भी कोई परिवर्तन न किया जाए। अब हकीकत यह है कि देश के स्टार खिलाड़ी महेश भूपति और दो शीर्ष एकल खिलाड़ी प्रकाश अमृतराज व रोहन बोपन्ना पेस की कप्तानी में खेलने को कतई तैयार नहीं हैं। आयटा ने यहां मीडिया से कहा कि अभी सब मुद्दों को सुलझाने के लिए समय बहुत कम है। फिलहाल आयटा ने जापन के खिलाप मुकाबले के लिए एसपी मिश्रा को मैनेजर और रनबीर चौहान को मीडिया मैनेजर नियुक्त किया है। ॅखिलाड़ियों से बैठकर बात करेंगे और उनका विवाद सुलझाने का प्रयास करेंगे। इसमें समय लगेगा। सिर्फ जापान के विरुद्ध ही नहीं बल्कि पेस और भूपति की जोड़ी को भारत के लिए बीजिंग में भी उतर कर देश के लिए ओलंपिक पदक हासिल करना है। ऐसे में दोनों में ही विवाद सुलझाना जरूरी है। आयटा के सचिव अनिल खन्ना ने कहा कि हम वास्तविक मुद्दों पर बात कर सकते हैं। इसमें ध्यान यह रखना है कि खिलाड़ियों की भावनाएं आहत न हों। इधर भूपति अभी भी अपनी बात पर कायम हैं और कह रहे हैं कि जब तक पेस कप्तान होंेगे हम नहीं खेलेंगे। उन्होंने आयटा पर भी दोषारोपण करते हुए कहा कि आयटा ने पहले तो हमारे पत्र का खुलासा कर दिया और उसके बाद हमसे बात करने का प्रयास भी नहीं किया। मीडिया के तमाम टेनिस पंडित अपनी राय जाहिर कर रहे हैं और हमारी बात कोई नहीं सुन रहा। भूपति ने कहा कि खिलाड़ी कोई गैरखिलाड़ी सीनियर कप्तान चाहते हैं और मैं उनकी राय से इत्तेफाक रखता हूं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पेस फिर कप्तान, टीम में भी बदलाव नहीं