DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खेमों में बंट कर विकास संभव नहीं : कार्डिनल

ार्डिनल तेलेस्फोर पी टोप्पो ने कहा कि खेमों में बंट कर विकास संभव नहीं है। विकास के लिए सरकार, स्वयंसेवी संगठनों और सदच्छिा के लोगों का समन्वित प्रयास जरूरी है। चर्च को इस बात का विशेष ध्यान रखना होगा कि इनके कार्यक्रमों में किसी तरह का भेदभाव नहीं हो। वह गुरुवार को एसडीसी सभागार में आयोजित आर्च डायसिसन डेवलपमेंट पर्सपेक्िटव प्लान की बैठक के उद्घाटन सत्र में बोल रहे थे। एक्सआइएसएस के निदेशक फादर बेनी एक्का ने विकास से जुड़ी चुनौतियों पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि महिला स्वयं सहायता समूह और को-ऑपरेटिव का गठन सशक्तीकरण के अच्छे माध्यम बन सकते हैं। फादर एलेक्स एक्का ने योजनाआें के क्रियान्वयन की विभिन्न पहलुआें पर प्रकाश डाला।ड्ढr दो दिनी बैठक में रांची महाधर्मप्रांत क्षेत्र के लिए पांच वर्ष का विकास कार्यक्रम तैयार किया जायेगा। इससे रांची और लोहरदगा जिले को जोड़ा गया है। फादर तेलेस्फोर एक्का ने बताया कि 31 पेरिश से आये धर्मसमाजी और विकास कार्यक्रमों से जुड़े लोग मुद्दों की पहचान कर कार्य योजना तैयार करंेगे। योजना अप्रैल 2008 से लागू होगी। मौके पर फादर हुबतरुस बेक, फादर अगस्टीन तोपनो, फादर थियोडोर और अनिता केरकेट्टा उपस्थित थे। बैठक का आयोजन कैथोलिक चैरिटीज ने किया है।दिघिया विकारिएट का यूथ कैंप शुरूड्ढr रांची। रांची आर्च डायसिस के दिघिया विकारिएट का युवा शिविर गुरुवार को पुरुलिया रोड स्थित सोशल डेवलपमेंट सेंटर में शुरू हुआ। चार दिनी शिविर के पहले दिन डॉन बास्को यूथ एंड एजुकेशनल सर्विसेस के निदेशक फादर पीडी जॉनी ने व्यक्ितत्व निर्माण से जुड़ी बातों पर प्रकाश डाला। इस मौके पर फादर अगुस्टीन केरकेट्टा, सिस्टर क्रिस्टीन, पोलिकार्प लकड़ा और दिघिया, गढ़लोदमा और कुरकुरिया से आये 30 युवा प्रतिभागी मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: खेमों में बंट कर विकास संभव नहीं : कार्डिनल