DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

किसानों की बल्ले-बल्ले, आयकर में बड़ी राहत

वित्त मंत्री पी चिदंबरम ने देश के सामने अपना सातवां आम बजट पेश किया। आज के बजट के साथ एक अनूठी बात यह भी हुई कि 2रवरी के दिन यह उनका पहला बजट है। बजट में उन्होंने छोटे किसानों व सीमांत किसानों के सारे कर्ज माफ करने की घोषणा की है। इसके साथ ही असंगठित क्षेत्र के मजदूरो की बीमां के लिए 205 करोड़ की घोषणा की गई। यह माफी 31 मार्च 2007 तक लिए कजरे पर लागू होगा। यह उन किसानों पर लागू होगा जिनके पास 5 एकड़ तक के जमीनों के मालिकों पर लागू होगा। एक अनुमान के अनुसार50 हजारकरोड़ कर्ज माफ होगा। चिदंबरम ने आयकर की सीमा भी बढ़ा दी है। यह सीमा 1.50 लाख रखी गई है।महिलाआें के लिए आय कर की छूट की राशि 1.80 लाख रुपये रखा गया है। बुजुगरे के िलए यह सीमा 2 लाख 25 हजार रखी गई है। डेढ़ से तीन लाख तक 10 फीसदी और 3 से 5 लाख की आय पर 20 फीसदी कर की घोषणा की है। बजट में शिक्षा पर 20 प्रतिशत और स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए 16 प्रतिशत वृद्धि करने की घोषणा की। वर्ष 2008-0में योजना को बजट से 2.2लाख करोड़ रुपये मिलने की घोषणा करते हुए चिदम्बरम ने लोकसभा में कहा कि केन्द्रीय आयोजना व्यय 16 प्रतिशत बढ़कर 17रोड़ रुपये हो गया है। चिदम्बरम ने संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार का पांचवां बजट पेश करते हुए कहा कि सरकार सोलह केंद्रीय विश्वविद्यालय स्थापित करेगी और उच्च शिक्षा के नए केंद्र भी स्थापित किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय की प्रेरित शोध परियोजनाआें के लिए 85 करोड़ रुपये का प्रावधान किया जाएगा। स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए 16 प्रतिशत की बढ़ोतरी की घोषणा करते हुए उन्होंने कहा राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के लिए 12 हजार 50 करोड़ रुपये की व्यवस्था की जा रही है। चिदम्बरम ने असंगठित क्षेत्र में गरीबी रेखा के नीचे के प्रत्येक मजदूर को 30 हजार रुपये का स्वास्थ्य बीमा कवर उपलब्ध कराने की घोषणा की। वित्त मंत्री ने कहा कि पोलियो उन्मूलन के लिए 1042 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे जबकि 1100 करोड़ रुपये की लागत से राष्ट्रीय ज्ञान नेटवर्क बनाया जाएगा। उन्होंने सर्व शिक्षा अभियान के लिए 13100 करोड़ रुपये और मध्याह्न भोजन योजना के लिए 800 करोड़ रुपये का प्रावधान किए जाने की घोषणा की। आंध्र, बिहार, राजस्थान में तीन आईआईटी स्थापित होंगे। बजट घोषणाआें के अनुसार पूरे देश के अपर प्राइमरी स्कूलों में दोपहर के भोजन की योजना लागू होगी और बालिका विद्यालयों के नवीकरण के लिए 80 करोड़ रुपये खर्च होंगे।ड्ढr उन्होंने बताया कि 650 करोड़ रुपये की लागत में 6000 मॉडल स्कूल भी स्थापित किए जाएंगे। चिदम्बरम ने कहा कि फसल बीमा के लिए वह राष्ट्रीय कृषि बीमा योजना के लिऐ 640 करोड़ की व्यवस्था कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि कृषि क्षेत्र में सुधार के लिए केन्द्र एवं राय सरकारों के बीच सहमति बन गई। मेजों की थपथपाहट के बीच वित्त मंत्री ने सभी छोटे किसानों का कर्ज माफ करने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि छोटे और मझौले किसानों का पूरा कर्ज माफ किया जा रहा है। इसमें सभी सरकारी बैंकों, ग्रामीण बैंकों और सहकारी संस्थाआें का कर्ज शामिल है। वित्त मंत्री की इस घोषणा से सदन शोरगुल में डूब गया। विपक्ष की आेर से कुछ आपत्तियां उठाई गईं जो किसानों की कर्ज माफी की घोषणा से पैदा हुए उल्लास के शोर में सुनी नहीं जा सकीं। महत्वपूर्ण घोषणाएं : आयकर में राहत :ड्ढr -आयकर की सीमा बढ़ी, आयकर छूट की सीमा 1.5 लाख रुपये।ड्ढr -महिलाआें के लिए आयकर छूट की सीमा 1.8 लाख।ड्ढr -बुजुगरे के लिए आयकर छूट की सीमा 2 लाख 25 हजार।ड्ढr -डेढ़ से तीन लाख तक आय पर 10 प्रतिशत टैक्सड्ढr -तीन से पांच लाख तक आय पर 20 प्रतिशत टैक्सड्ढr -5 लाख से ऊपर 30 प्रतिशत टैक्स।ड्ढr -सरचार्ज में कोई बदलाव नहीं। शिक्षा में भारी निवेश :ड्ढr -शिक्षा का बजट 20 प्रतिशत बढ़ा। यह 28674 करोड़ से बढ़कर 34,400 करोड़ हो गया है।ड्ढr -सर्वशिक्षा के लिए 13,100 करोड़ रुपये।ड्ढr - मिड डे मील पर 8000 करोड़। -मिडिल स्कूल तक मिड डे मील।ड्ढr -तीन नए आईआईटी-आंध्र, बिहार और राजस्थान के लिए।ड्ढr -एससीएसटी जनसंख्या वाले 20 जिलों में नवोदय स्कूल।ड्ढr -210 कस्तूरबा गांधी गर्ल्स स्कूल बनेंगे।ड्ढr -16 राज्यों में केंद्रीय विश्वविद्यालय खोलें जाएंगे। कृषि में भारी राहत :ड्ढr -छोटे और मझौले किसानों के 31 मार्च, 2007 तक लिए कर्ज माफ। यह उनके द्वारा लिए गए 31 हजार रुपये तक के कर्ज पर लागू होगा। इससे 4 करोड़ किसानों को लाभ पहुंचेगा। कुल कर्ज माफी 50 हजार करोड़ है।ड्ढr -खेती में 2.6 फीसदी विकास दर की आशा है।ड्ढr -कृषि क्षेत्र को दोगुना कर्ज मिला, 2.4 लाख करोड़ रुपये कर्ज कृषि क्षेत्र के लिए।ड्ढr -कृषि विकास के लिए 2 लाख 80 हजार करोड़ रुपये।ड्ढr -सिंचाई के लिए 20 हजार करोड़ रुपये।ड्ढr -बागवानी विकास के लिए 1100 करोड़।ड्ढr -चाय उद्योग के लिए 40 करोड़ का खास फंड।ड्ढr -कृषि बीमा योजना 644 करोड़ रुपये।ड्ढr -हथकरघा उद्याोग के लिए 340 करोड़ की योजना। स्वास्थ्य क्षेत्र में निवेश :ड्ढr -जीवन रक्षक दवाएं सस्ती।ड्ढr -एड्स की दवाएं सस्ती, आयात शुल्क पूरी तरह से खत्म।ड्ढr -एड्स कार्यक्रम के लिए रोड़ रुपये।ड्ढr -राजीव गांधी पेयजल योजना के लिए 73 हजार करोड़ रुपये।ड्ढr -वृजन समाजिक सुरक्षा कार्यक्रम के लिए 400 करोड़ रुपये। अन्य महत्वपूर्ण घोषणाएं :ड्ढr -31 हजार करोड़ भारत निर्माण के लिए।ड्ढr -राजस्व घाटा घटकर 1.4 प्रतिशत हुआ।ड्ढr -राजकोषिय घाटा घटकर 3.1 प्रतिशत हुआ।ड्ढr -पीक कस्टम डय़ूटी में कोई बदलाव नहीं।ड्ढr -बीपीएल कामगारों का बीमा, एनआरईजीए देश के सभी जिलों में- बजट 16 हजार करोड़।-सेवा कर का दायरा बढ़ा चार और सेवाआें पर सेवा कर। सस्ता हुआ :ड्ढr -सेट टॉप बॉक्स सस्ता।ड्ढr -डेयरी पदार्थ भी सस्ते।ड्ढr -उत्पादन शुल्क में कमी कच्चा तेल सस्ता।ड्ढr -उत्पादन शुल्क में कमी दोपहिया और तिपहिया वाहन भी सस्ते।ड्ढr -उत्पादन शुल्क में कमी बस भी सस्ती।ड्ढr -उत्पादन शुल्क में कमी छोटी कार सस्ती। मंहगा हुआ :ड्ढr -सिगरेट-तंबाकू महंगे।ड्ढr -पैकेज सॉफ्टवेयर महंगे।ड्ढr ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: किसानों की बल्ले-बल्ले, आयकर में बड़ी राहत