DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मरीजों का भोजन बीच में डकार रहे कर्मचारी

राजकीय आयुर्वेद कॉलेज एवं अस्पताल में भर्ती मरीजों का पथ्य अस्पताल के कर्मचारी खा जाते हैं। इसको लेकर मरीजों में आक्रोश है। अस्पताल में अब भर्ती मरीजों की संख्या बढ़ने लगी है। उनके लिए सरकार की ओर से प्रतिदिन 25 रुपये का पौष्टिक भोजन दिया जाता है। मरीजों के भोजन सूची में मूंग और दूध भी शामिल है।ड्ढr ड्ढr गुरुवार को भंडार से नौ मरीजों के लिए दिया गया 00 ग्राम मूंग बीच में गायब होकर 500 ग्राम हो गया। भंडार से मरीज तक आने में ही 400 ग्राम मूंग बीच में गायब होने का मामले तूल पकड़ रहा है। इसको लेकर कर्मचारियों के बीच एक-दूसरे पर दोषारोपण भी होने लगा है। रोगियों को मिलनेवाला पथ्य का पूर्ण हिस्सा में चपतमारी हो जाती है। इधर अस्पताल की ओर से मरीजों को दिया जानेवाला 200 मिली ग्राम दूध का पैकेट लूज हालत में दिया जाता है। इसको लेकर मरीजों ने दूध की मात्रा और शुद्धता को लेकर सवाल खड़ा किया है। पिछले दिनों मशालों की आपूर्ति में भी हेराफेरी का मामला उजागर हुआ था। इस मामले पर अस्पताल के अधीक्षक डा.देवव्रत नारायण सिंह ने कहा कि मामले की जांच करायी जाएगी। दोषी पाये जानेवाले कर्मचारी पर गाज गिरना तय है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मरीजों का भोजन बीच में डकार रहे कर्मचारी