अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

‘बजट में पूर्वोत्तर क्षेत्रों की अनदेखी’

त्रिपुरा में वाम मोर्चा सरकार ने केंद्रीय बजट पर असंतोष जाहिर करते हुए केंद्र की संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) सरकार पर देश की मुख्य समस्याआें को नजरअंदाज करने का आरोप लगाया है। राय के वित्तमंत्री बादल चौधरी ने बजट को चुनावोन्मुखी करार देते हुए कहा है कि हालांकि केंद्रीय वित्तमंत्री पी चिदंबरम ने देश भर के 232 और जिलों को राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (नरेगा) में शामिल किए जाने की घोषणा की है, लेकिन धन का आवंटन इसके अनुरुप नहीं किया गया है। चौधरी ने कहा कि वित्त वर्ष 2007-08 में नरेगा के लिए 12 हजार करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया था और वर्ष 2008-0में इसके लिए 16 हजार करोड़ रुपए का प्रावधान है जो बढ़ाए गए जिलों के अनुपात में कम है। उन्होंने आरोप लगाया कि बजट में संपूर्ण पूवर्ोत्तर क्षेत्र की अपेक्षाआें की अनदेखी की गई है। उन्होंने कहा कि देश में भारतीय प्रौद्योगकी संस्थान (आईआईटी) के और तीन तथा राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (निट्स) के 16 और संस्थान खोले जाने का प्रस्ताव है, जबकि पूवर्ोत्तर क्षेत्रों के लिए एक भी उच्च शिक्षण संस्थान स्थापित करने का प्रस्ताव नहीं है। उन्होंने कहा कि वित्तमंत्री ने इस वित्त वर्ष में शिक्षण क्षेत्र के लिए 344 अरब रुपए का प्रावधान करते हुए बिहार, आंध्रप्रदेश एवं राजस्थान में एक-एक आईआईटी संस्थान खोले जाने की घोषणा की, जबकि पूवर्ोत्तर रायों के लिए इस तरह का कोई तोहफा नहीं दिया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: ‘बजट में पूर्वोत्तर क्षेत्रों की अनदेखी’