DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बिहार ने हमेशा कवियों को सम्मान दिया

मानव संसाधन मंत्री वृशिण पटेल ने रविवार को बिहार इंडस्ट्रीज एसोसिएशन में डा. रवीन्द्र राजहंस के काव्य की सीडी का लोकार्पण करते हुए कहा कि बिहार हमेशा ही कवियों का सम्मान करते आया है। बिहार कई दिग्गज लेखक एवं कवियों की जन्मभूमि रही है। इसलिए बिहार ने पूरे देश में साहित्य के क्षेत्र में भी एक नई दिशा दी। श्री पटेल ने कहा कि कविता के माध्यम से किसी भी भावना को आसानी से व्यक्त किया जा सकता है। कविता में ही भावों का सार छिपा रहता है। व्यंग्य में मार्मिकता छिपी रहती है।ड्ढr ड्ढr डा.राजहंस 1े आंदोलन में भी नुक्कड़ नाटक में भाग लेते थे। बिहार हिन्दी ग्रंथ अकादमी के निदेशक प्रो. रामबुझाबन सिंह ने कहा कि डा. राजहंस का काव्य प्रेरणादायी है। वे अपनी दो टूक बयानबाजी के लिए प्रसिद्ध हैं। उन्होंने अपनी कविताओं में सामाजिक सरोकार एवं प्रखर राजनीतिक चेतना का परिचय दिया है। डा. रवीन्द्र राजहंस ने कहा कि उन्होंने कविता को जनजीवन एवं सामाजिक सरोकार से जोड़ा है। मंच का संचालन डा.शंकर प्रसाद तथा धन्यवाद ज्ञापन नीलिमा सिन्हा ने किया। इस अवसर पर डा. जितेन्द्र सहाय,विधायक श्रवण पासवान,युवा जद यू के महासचिव नीतीश कुमार टनटन,श्वेता राज,संजू सिंह ने भी अपने विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम का आयोजन क्रिएशन संस्था ने किया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बिहार ने हमेशा कवियों को सम्मान दिया