अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सहकारिता बैंककर्मी 25 से बेमियादी हड़ताल पर

झारखंड राज्य सहकारिता बैंक कर्मचारी यूनियन के वार्षिक सम्मेलन में 25 मार्च से बेमियादी हड़ताल पर जाने का निर्णय लिया गया। यूनियन के नवनिर्वाचित महासचिव शंभू चरण कर्मकार ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि सहकारिता बैंककर्मियों का वेतन पुनरीक्षण करना यूनियन की प्रमुख मांग है। राज्य गठन के बाद से ही राज्य सहकारिता बैंक के गठन की मांग की जाती रही है, लेकिन राज्य सरकार इस पर मौन है। 20 साल तक काम करनेवाले दैनिक मजदूरों को नियमित करने में बैंक प्रबंधन आना-कानी कर रहा है। वहीं दूसरी आेर बैंक को डुबाने में प्रमुख भूमिका निभानेवाले डालटनगंज सहकारिता बैंक के 137 कर्मियों की सेवा अन्य बैंकों में समायोजित कर दी गयी है। चाईबासा केंद्रीय सहकारिता बैंक से 45 कर्मियों को निकाल दिया गया है। यूनियन की मांग है कि उन्हें पुन: बहाल किया जाये।सम्मेलन में नयी कमेटी के पदाधिकारी निर्वाचितड्ढr सम्मेलन में राज्य सहकारिता बैंक कर्मचारी यूनियन के नये पदाधिकारियों का चुनाव किया गया। अजित (देवघर) यूनियन के अध्यक्ष और शंभू चरण कर्मकारी (रांची) महासचिव चुने गये। उज्जवल (रांची), उमेश चंद्र सिंह (चाईबासा), राजेश तिवारी (गुमला) और अनिल (धनबाद) उपाध्यक्ष, वीके नारायण (चाईबासा) सचिव और अरुण सिन्हा (रांची) कोषाध्यक्ष चुने गये। मो अली और बिरसा उरांव सहायक सचिव चुने गये।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सहकारिता बैंककर्मी 25 से बेमियादी हड़ताल पर