DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सुरक्षा परिषद ने ईरान पर लगाए प्रतिबंध

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने सोमवार को ईरान पर तीसरे दौर के नए प्रतिबंध थोप दिए। इसके तहत पहली बार ईरान के साथ सैन्य के साथ-साथ नागरिक उपयोग के सामानों के व्यापार पर भी रोक लगा दी गई है। प्रतिबंध के प्रस्ताव में समुद्री या वायु मार्ग से ईरान आने-जाने वाले सामानों की जांच का प्रावधान भी किया गया है। देश के नाभिकीय व मिसाइल कार्यक्रम से कथित तौर पर जुड़े होने के आधार पर करीब एक दर्जन कंपनियों और लगभग इतने ही लोगों की संपत्तियों को भी फ्रीज कर दिया गया है। सुरक्षा परिषद के मुताबिक ईरान ने संवेदनशील नाभिकीय गतिविधियों को नहीं रोका है इसलिए उस पर नए प्रतिबंध लगाए जा रहे हैं। परिषद में इस प्रस्ताव के पक्ष के 14 वोट पड़े और कोई भी मत इसके विरोध में नहीं पड़ा। केवल एक देश इंडोनेशिया ही मतदान के दौरान उपस्थित नहीं रहा। ईरान के संयुक्त राष्ट्र में राजदूत मोहम्मद खाजी ने इस पर प्रतिक्रिया जताते हुए कहा कि इससे सुरक्षा परिषद की विश्वसनीयता को धक्का पहुंचेगा। उन्होंने कहा कि यह परिषद कुछ देशों की विदेश नीति का औजार बन गई है और ईरान का परमाणु कार्यक्रम हमेशा शांतिपूर्ण रहा है। ईरान इन आरोपों से हमेशा इंकार करता रहा है कि वह नाभिकीय हथियार बनाने का इच्छुक है। तेल भंडार के मामले मंे धनी राष्ट्र ईरान ने इस बात से भी इंकार किया है कि उसने इससे पहले सुरक्षा परिषद के उन प्रस्तावों की उपेक्षा की है जिनमें मांग की गई थी कि वह यूरेनियम संवर्धन का कार्यक्रम रोक दे। यूरेनियम के संवर्धन से जो ईंधन बनता है उसका इस्तेमाल बिजली बनाने या नाभिकीय बम बनाने में हो सकता है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सुरक्षा परिषद ने ईरान पर लगाए प्रतिबंध