DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

महिला कांस्टेबल से छेडख़ानी सार्जेट मेजर निलंबितं

पुलिस लाइन में एक महिला कांस्टेबुल के साथ परिचारी प्रवर द्वारा छेडख़ानी का मामला सामने आते ही प्रशिक्षु जवानों ने मंगलवार की सुबह जमकर हंगामा किया। प्रशिक्षु जवानों ने परिचारी प्रवर के आवास में घुसकर उनकी जमकर पिटाई कर दी। कटिहार से यहां पहुंचे जवान घंटों बवाल मचाते रहे और पुलिस लाइन के अन्य जवान अपने घरों में दुबके रहे। हंगामा मचाते लगभग 100 रंगरूट पीड़ित महिला कांस्टेबुल ममता राय के साथ जिलाधिकारी के आवास पर पहुंचे और उन्हें शिकायत पत्र सौंपा।ड्ढr ड्ढr कटिहार प्रशिक्षण केन्द्र बीएमपी-7 में प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे ये रंगरूट इंटर परीक्षा में डय़ूटी करने के लिए सहरसा में प्रतिनियुक्त किये गये हैं। उधर, कोसी रेंज के डीआईजी शाहाब अख्तर ने सार्जेट मेजर हरेंद्र राय को निलंबित कर दिया है। पीड़ित महिला के बयान पर सार्जेट मेजर के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कर ली गयी है। डीएसपी राजकुमार यादव ने बताया कि इस मामले में नगर थाने में तीन प्राथमिकियां दर्ज की गयी हैं जिसमें आरोपी सार्जेट मेजर ने पुलिस एसोसिएशन के मंत्री व अन्य के खिलाफ मामला दर्ज कराया है जबकि पुलिस एसोसिएशन के मंत्री महेंद्र यादव के बयान पर सार्जेट मेजर के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी है।ड्ढr ड्ढr बताया जाता है कि महिला कांस्टेबल को पुलिस लाइन के जिस भवन में रखा गया है उसमें शौचालय नहीं है। परिचारी प्रवर के आवास वाले शौचालय का ही ये महिला पुलिस उपयोग करती हैं। जिलाधिकारी को दिये आवेदन में आरोप लगाया गया है कि मंगलवार को शौच के बाद परिचारी प्रवर हरेन्द्र राय ने ममता को बुलाया। कमरे में जाने के साथ ही राय ने ममता का दोनों हाथ पकड़ कर छेडख़ानी करने लगे। हल्ला करने पर दूसरी महिला कांसूेबुल के पहुंचने पर उन्होंने उसे छोड़ दिया। इस घटना की सूचना प्रशिक्षु कॉस्टेबुलों में आग की तरह फैली और उन्होंने परिचारी प्रवर पर हमला बोल दिया। इधर एसपी को आवेदन देकर परिचारी प्रवर ने घटना की जानकारी दी है। एसपी ने सदर एसडीपीआे को मामले की जांच कर कार्रवाई का आदेश दिया है। इस संबंध में पूछे जाने पर एसपी कुंवर सिंह ने बताया कि महिला कांस्टेबुल के आरोप और परिचारी प्रवर पर हुए हमले के मामले में प्राथमिकी दर्ज कर एसडीपीआे को जांच का आदेश दे दिया गया है। ममता पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर की रहने वाली बतायी गयी है। मधुबनी जिला पुलिस बल के रूप में बहाल हुई उक्त कांस्टेबुल अन्य जवानों के साथ कटिहार बीएमपी-7 में प्रशिक्षण ले रही थी। इंटर परीक्षा के मद्देनजर इन प्रशिक्षु जवानों को सहरसा भेजा गया। आरोपित परिचारी प्रवर हरेन्द्र राय ने छेडख़ानी संबंधी आरोप को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि परीक्षा डय़ूटी से महिला कांस्टेबुल दो दिनों तक बिना सूचना अनुपस्थित रही। इस मामले में कार्रवाई के लिए एसपी को भी लिखा गया। इसीके विरोध में यह साजिश रच मेरे ऊपर हमला किया गया।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: महिला कांस्टेबल से छेडख़ानी सार्जेट मेजर निलंबितं