DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भोजन नहीं मिलने पर छात्रों का हंगामा

मंगलवार को विद्यालय में मध्याह्न् भोजन में गरबरी को लेकर छात्रों ने प्रख्ांड शिक्षा प्रसार कार्यालय का घेराव किया। प्रखंड अन्तर्गत करूआ रूपनी स्थित मध्य विद्यालय में विद्यालय प्रधान अरूणा देवी द्वारा मीनू के अनुसार मध्याह्न् भोजन नहीं दिये जाने तथा वर्तन को साफ-सफाई नहीं रखने पर विद्यालय के आक्रोशित छात्र छात्राआें ने एकजुट हो प्रखंड शिक्षा कार्यालय पहुंच कर घेराव किया।ड्ढr ड्ढr कार्यालय का घेराव कर रहे सैकड़ों छात्र एवं छात्राआें ने कार्यालय में मौजूद बी.आर.पी. विनोद कुमार के समक्ष अपनी समस्या रखते हुये कहा कि मीनू के तहत मध्याह्न् भोजन की मांग करने पर विद्यालय प्रधानाध्यापक ने उन लोगों को डराया धमकाया। बच्चों ने बताया कि भोजन के रख रखाव में शुद्धता नहीं बरती जा रही है शुक्रवार को कुत्ता का जूठा भोजन ही बच्चों को खिलाया गया। विद्यालय के वर्ग छह के रोशन कुमार, वर्ग पांच के प्रशांत कुमार, संजीव कुमार, विश्वजीत कुमार छात्रों की टोली का नेतृत्व कर रहे थे। बीआरपी ने छात्रों की समस्या पर विद्यालय मध्याह्न् भोजन प्रभारी संजय कुमार से सम्पर्क कर निरीक्षण का निर्देश दिया।ड्ढr ड्ढr मध्याह्न् भोजन से वंचित आक्रोशित छात्रों का गुस्सा देखने लायक थी। छात्रों की बौखलाहट ऐसी थी कि विद्यालय से प्रखंड मुख्यालय की एक किलोमीटर की दूरी चंद मिन्टो में थाली कटोरा लेकर पहुंच गये। छात्रों का आरोप था विद्यालय के शिक्षकों के मिली भगत से खाना बनाने के बाद बचा भोजन अपने घर ले जाता था। जबकि विद्यालय में हिन्दुस्तान के संवाददाता पहुंचने पर उपस्थित शिक्षिका अपने कमरे से बाहर निकल गई एवं इस संबंधमें कुछ भी कहने से इनकार करने लगी। वर्ग पांच के अमित कुमार, ऋतु कुमार आदि ने बताया कि भेाजन नहीं मिला। प्रथम वर्ग की सोनी, द्वतीय की करिश्मा आदि ने भी कहा कि शुरू में जो छात्र खाना लेने पहुंचते उसे खाना मिलता है परन्तु देर करने पर नहीं दिया जाता है इधर मनीषा, अजीत आदि ने कहा कि हमलोगों को सिर्फ चावल दिया गया।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: भोजन नहीं मिलने पर छात्रों का हंगामा