DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

भारत की जीत में राजपाल और रघुनाथ के ‘पंच’

भारत ने ओलंपिक हॉकी क्वालिफायर में गोलों की बारिश जारी रखी। आज खेले गए मुकाबले में उसने मेक्िसको को 18-1 से मसल दिया। भारत की यह लगातार तीसरी जीत है। हालांकि मेक्िसको ने शुरू में भारत पर दबाव बनाने की कोशिश की और शुरुआती 5 मिनट में ही तीन पेनल्टी कॉर्नर हासिल कर लिए। इसका ज्यादा असर भारत पर नहीं पड़ा। भारत ने एक बार हमला शुरू किया तो मेक्िसको के खिलाड़ी संभल नहीं पाए। भारत की ओर से सबसे राजपाल सिंह और पेनल्टी कॉर्नर विशेषज्ञ वी.आर. रघुनाथ ने पांच-पांच गोल किए जबकि प्रभजोत सिंह ने चार गोल किए। शिवेन्द्र सिंह के खाते में दो गोल आए जबकि तुषार खांडकर और सरदारा सिंह ने एक-एक गोल किया। मैक्िसको के लिए एकमात्र गोल मैच के अंतिम क्षणों में पेनल्टी स्ट्रोक पर पोल मोरेनो ने किया। अपने तीनों मैच हार कर मेक्िसको ओलंपिक टिकट की दौड़ से बाहर हो चुका है। भारत ने पहले मैच में रूस को 8-0 से जबकि ऑस्ट्रिया को 7-3 से हराया था। इस समय भारत अंक के साथ तालिका में सबसे ऊपर है। हालांकि इंग्लैंड के भी अंक हैं लेकिन गोल अंतर में वह भारत से पिछड़ गया है। कोच जोआकिम कारवाल्हो ने जीत के बाद कहा, ‘हमारा लक्ष्य रिद्म में खेलना और ज्यादा से ज्यादा गोल करना था ताकी हमारे फॉरवर्ड अपनी फॉर्म बनाए रखें। गोलों की संख्या से ज्यादा जिस तरह से कुछ अच्छे गोल हमारे खिलाड़ियों ने किए उसकी खुशी मुझे ज्यादा है।’ भारत इस मैच में पेनल्टी कॉर्नर पर ज्यादा ध्यान दे रही थी ताकी रघुनाथ अपनी ड्रैग-फ्लिक का ज्यादा से ज्यादा अभ्यास कर सके। कारवाल्हो ने कहा, ‘पिछले दो मैचों में रघुनाथ को ज्यादा अवसर नहीं मिले इसलिए हम उसके लिए ज्यादा से ज्यादा अवसर मुहैया कराना चाहते थे। उसने आज कई शानदार गोल किए।’ भारत को कुल 10 पेनल्टी कॉर्नर मिले इसमें तीन पर गोल हुए। कुछ बाहर भी गए लेकिन मेक्िसको के गोलकीपर ने भी कई सुंदर बचाव किए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: भारत की जीत में राजपाल और रघुनाथ के ‘पंच’