DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बेखौफ मुंबई लौटें पूरबिये

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री विलास राव देशमुख ने उत्तर भारतीयों के खिलाफ शिव सेना के मुख पत्र ‘सामना’ में प्रकाशित भड़काऊ संपादकीय पर टिप्पणी करते हुए अखबार और लेखक के खिलाफ कानूनी कार्रवाई का भरोसा दिया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार कानूनविदों से सलाह कर रही है। मुख्यमंत्री ने राज्य से पलायन कर गए उत्तर भारतीयों को सुरक्षा का भरोसा देते हुए उनसे महाराष्ट्र वापस लौट आने की अपील की है। गौरतलब है कि अपनी पार्टी के मुख पत्र के संपादकीय में शिवसेना प्रमुख बाल ठाकरे ने दावा किया है कि बिहार वासियों के खिलाफ मुंबई या महाराष्ट्र में ही नहीं असम, दक्षिण भारत और पंजाब में भी काफी रोष है। ठाकरे इस अखबार के संपादक हैं। मुख्यमंत्री ने माना कि राज्य में महाराष्ट्र नव निर्माण के प्रमुख राज ठाकरे द्वारा गैर मराठियों के खिलाफ दिये गए भड़काऊ बयानों से भड़की हिंसा के कारण बड़ी संख्या में उत्तर भारतीयों को राज्य से पलायन के लिए मजबूर होना पड़ा है। हालांकि उन्होंने कहा कि पलायन करने वाले उत्तर भारतीयों में एक तबका उन लोगों का भी है जो होली पर्व के कारण अपने घर चले गए हैं। देशमुख ने उत्तर भारतीयों से महाराष्ट्र लौटने की अपील की और भरोसा दिया कि सरकार उनकी सुरक्षा का पूरा इंतजाम करेगी। मुख्यमंत्री दिल्ली में राज्य की वार्षिक योजना की बैठक में शामिल होने के लिए आए थे। इस मौके पर मीडिया के सावालों से झल्लाये मुख्यमंत्री ने पत्रकारों से ही पूछ डाला कि आप खुद बताएं कानून की किस धारा के तहत अखबार के खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए?

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: बेखौफ मुंबई लौटें पूरबिये