DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जरदारी के पाक प्रधानमंत्री बनने का रास्ता हुआ साफ

पाकिस्तान की भ्रष्टाचार निरोधक अदालतों ने पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के सहअध्यक्ष आसिफ अली जरदारी के खिलाफ भ्रष्टाचार के पांच मामले समाप्त कर दिए। इससे वह नई सरकार का नेतृत्व करने के पात्र बन गए हैं। जरदारी के वकील फारुक एच. नईक ने कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि सत्य की जीत हुई है। उन्होंने कहा कि जरदारी और बेनजीर के भुट्टो के खिलाफ सभी मामले झूठे और राजनीति सेप्रेरित थे। इससे पहले नेशनल एकाउंटेब्लिटी ब्यूरो ने ये मामले समाप्त कर दिए थे। रावलपिंडी की भ्रष्टाचार निरोधक अदालत ने इसी आधार पर ये माामले समाप्त करने का फैसला लिया है। 27 फरवरी को पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने भी राष्ट्रीय सुलह अध्यादेश पर लगाए गए स्थगन आदेश को हटा दिया था। इसके बाद ऐसा लग रहा था कि जरदारी के खिलाफ भी भ्रष्टाचार के मामले खत्म किए जा सकते हैं। कोर्ट ने जरदारी के एक सहयोगी रहमान मलिक के खिलाफ भी भ्रष्टाचार के मामले समाप्त कर दिए हैं। जरदारी के वकील ने अदालत के फैसले के बाद कहा कि अदालत ने राष्ट्रीय सुलह अध्यादेश को आधार बनाकर यह फैसला सुनाया है। भ्रष्टाचार के इन मामलों में जरदारी पहले ही आठ साल जेल में बिता चुके हैं। जरदारी पर चीनी और ट्रैक्टरों के आयात में घोटाला करने का भी आरोप था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जरदारी के पाक प्रधानमंत्री बनने का रास्ता हुआ साफ