अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नक्सलियों ने गोदाम व आंगनबाड़ी केन्द्र उड़ाए

माओवादियों ने अपने पलामू प्रमंडल बंद के दौरान मनातू में दो सरकारी भवन को डायनामाइट लगाकर उड़ा दिया। चार-पांच मार्च की रात्रि दो से तीन बजे के बीच उग्रवादियों के निशाना बने एसएफसी गोदाम और आंगनबाड़ी केन्द्र। अर्से से दोनों भवन खाली पड़े थे। यदा-कदा भवन में अतिरिक्त पुलिस बल ठहरती थी। एसपी, सीआरपीएफ कमांडेट, सदर एसडीआे ने घटनास्थल का निरीक्षण किया। वहां से पुलिस ने 100 मीटर तार व दर्जनाधिक हस्तलिखित पोस्टर बरामद किया है।ड्ढr ड्ढr जानकारी के अनुसार उग्रवादी सौ की संख्या में थे। सर्वप्रथम 2:45 बजे पहले विस्फोट की आवाज सुनी गयी। तत्पश्चात 2:55 पर उग्रवादियों ने केन बम द्वारा दूसरा विस्फोट कर भवन को क्षतिग्रस्त कर दिया। आंगनबाड़ी केन्द्र व गोदाम पूर्ण रूप से क्षतिग्रस्त हो गये हैं। विस्फोट इतना जबरदस्त था कि भवन का मलबा पांच सौ मीटर की परिधि में फैल गया। विस्फोट से इलाके के लोग दशहतजदा हैं। घटनास्थल प्रखंड सह अंचल कार्यालय से सटा हुआ तथा थाना से महज आधा किलोमीटर दूरी पर है। एसपी ने बताया कि घटना सुबह तीन बजे की है। उग्रवादियों के विरुद्ध सघन छापामारी अभियान चलाया जा रहा है। इस दौरान इंस्पेक्टर, थाना प्रभारी, पाटन थाना प्रभारी उपस्थित थे।ड्ढr ड्ढr नक्सली साहित्य के साथ माआेवादी गिरफ्तारड्ढr मुजफ्फरपुर (सं.सू.) । सदर थाना पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर भगवानपुर चौक स्थित बस स्टैंड से नक्सली साहित्य के साथ बुधवार की सुबह एक माआेवादी को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार माआेवादी भाकपा माओवादी केंद्रीय कमिटी का प्रमुख सदस्य है। मोतिहारी से पार्टी का प्रचार करके लौटने के क्रम में उसे मुजफ्फरपुर में गिरफ्तार किया गया। पुलिस सूत्रों के अनुसार गिरफ्तार वीर बहादुर सिंह वैशाली जिला के बिदुपुर थाना क्षेत्र के कुतुबपुर का निवासी है। उसे पुलिस ने बुधवार को ही न्यायालय में पेश किया, जहां से मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी ज्योतिंद्र कुमार सिन्हा ने सुनवाई के बाद न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया। जानकारी के अनुसार पुलिस को सूचना मिली कि भगवानपुर बस स्टैंड में एक व्यक्ित संदिग्ध स्थिति में घूम रहा है। उसके बाद सदर थाना अध्यक्ष राजेश कुमार शर्मा व दारोगा ओमप्रकाश ने स्टैंड में छापेमारी कर माओवादी वीर बहादुर सिंह को गिरफ्तार किया। मोतिहारी से पार्टी का प्रचार-प्रसार कर लौट रहे वीर बहादुर के पास से पुलिस ने एक झोला भी बरामद किया है। झोले में 13 नवम्बर 2005 को हुए जहानाबाद ऑपरेशन जेल ब्रेक नाम की पुस्तक बरामद की गयी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नक्सलियों ने गोदाम व आंगनबाड़ी केन्द्र उड़ाए