DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जजों की बहाली के लिए प्रस्ताव की तैयारी

पाकिस्तान की नई सरकार मंत्रीमंडल के गठन के तुरंत बाद गत वर्ष तीन नवंबर को देश में लगाए गए आपातकाल के दौरान बर्खास्त किए जजों की बहाली के संबंध में एक प्रस्ताव पारित कर सकती है। पाकिस्तानी अखबार ‘द डॉन’ में गुरुवार को प्रकाशित एक खबर के अनुसार पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज) पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी और अवामी नेशनल पार्टी के बीच इस मुद्दे पर सहमति बन चुकी है। हालांकि सूत्रों की कहना है कि नई सरकार राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ को पद से हटाने के बारे में फिलहाल कोई प्रस्ताव नहीं पारित करेगी, लेकिन नेशनल असेंबली के पहले सत्र में एक दर्जन से यादा प्रस्ताव पारित किए जा सकते हैं। सूत्रों की मानें तो पीएमएल (एन) और पीपीपी के बीच तालमेल अच्छा है और दोनों पार्टियां मिलकर काम कर रही हैं। अगले 15 दिनों में दोनों पार्टियां कई मामलों पर साझा दृष्टिकोण विकसित कर मिलकर काम करना शुरू कर देगी।ड्ढr गौरतलब है कि पीएमएल (एन) के लिए जजों की बहाली का मुद्दा प्राथमिकताआें में से एक है। हालांकि पीएमएल (एन) ने अभी साफ तौर पर नहीं बताया है कि वह मंत्रीमंडल में शामिल होगी अथवा नहीं। पीएमएल (एन) का तर्क है कि वह मुशर्रफ के राष्ट्रपति रहते सरकार में शामिल नहीं हो सकती है। हालांकि पीपीपी के सहअध्यक्ष आसिफ अली जरदारी सरकार में शामिल होने के लिए पीएमएल (एन) हर तरीके से मनाने का प्रयास कर रहे हैं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: जजों की बहाली के लिए प्रस्ताव की तैयारी