अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सुरक्षित यात्रा के लिए महिला को लेकर चलें साथ

मनोवैज्ञानिक अध्ययन यह साबित कर चुके हैं कि पुरुषों को महिलाओं का साथ बेहद रास आता है लेकिन अब सुरक्षा की दृष्टि से भी यह साथ जरूरी है। जर्मन मनोवज्ञानिकों के अनुसार पुरुष चालक के बगल में अगर कोई महिला बैठी हो तो दुर्घटना का खतरा पांच गुना कम हो जाता है। पुरुषों और महिलाओं के बीच कार चलाने के दौरान होने वाली तकरार के संबंध में किए गए इस अध्ययन के अनुसार पुरुषों व महिलाओं के जीन्स में अंतर ही इस मनोवैज्ञानिक प्रभाव के लिए जिम्मेदार है। जर्मनी के मनोवज्ञानिक कोनराड स्प्राई के अनुसार अपने पूवजरे के शिकारी होने के कारण अनुवांशिक रूप से ही पुरुष दूरी मापने में ज्यादा कुशल होते हैं। साथ ही घर-परिवार की देखभाल के कारण महिलाएं स्वभाव से सावधान होती हैं। यही कारण है कि महिलाओं की उपस्थिति अति-आत्मविश्वासी पुरुष कार चालकों को सावधानी से कार चलाने की ओर बाध्य कर सकती है। समाचार एजेंसी डीपीए ने जर्मनी के मनोवैज्ञानिकों के हवाले से बताया है कि तकरार के मौकों पर एक-दूसरे की कमजोरियों और खूबियों को समझना पुरुषों और महिलाओं के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: सुरक्षित यात्रा के लिए महिला को लेकर चलें साथ