DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

तो क्या शहर में सिर्फ ४२६ कुत्ते ही हैं!

तो क्या पूरे शहर में 426 ही कुत्ते हैं! नगर निमग में लाइसेंस तो इतने का ही है। इसी संख्या को बढ़ाने के लिए नगर निगम ने आलमबाग के जोनल कार्यालय में बुधवार को शिविर लगाया। इसमें जानकारी करने तो बहुत लोग आए लेकिन लाइसेंस सिर्फ पाँच ने ही बनवाया। यह 426 का आँकड़ा गुरुवार को नए बने लाइसेंस को मिलाकर है।ड्ढr ब्रीड के अनुसार कुत्तों के लाइसेंस का अलग-अलग शुल्क तय किया गया है। सभी कुत्तों के लाइसेंस का पंजीकरण शुल्क 150 रुपए है। डॉबरमैन, बॉक्सर, जर्मन शैफर्ड का लाइसेंस शुल्क 100 रुपए, पॉमेरियन जैसे मध्य श्रेणी के कुत्तों का शुल्क 50 रुपए और देशी कुत्तों का लाइसेंस शुल्क 25 रुपए रखा गया है। अपर नगर आयुक्त संतोष कुमार ने बताया कि जागरूकता बढ़ेगी तो लोग लाइसेंस बनवाएँगे। व्यवस्था की जा रही है कि जहाँ पर शिविर लगे वहाँ के लोगों को लाउडस्पीकर से सूचित किया जाए।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: तो क्या शहर में सिर्फ ४२६ कुत्ते ही हैं!