DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पुलिस से खफा महिलाआें का थाने में डेरा

बाकरगंज में गल्ला व्यापारी के यहाँ वारंट लेकर गई पुलिस की करतूत से खफा महिलाओं ने क्षेत्रीय लोगों के साथ बाबूपुरवा थाने में डेरा डाल दिया। घर में घुसकर महिलाओं से मारपीट कर जेवर और नकदी लूटने वाले पुलिस कर्मचारियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई की माँग पर लोग अड़े थे। आरोप को निराधार बताने पर पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की गई। इसी बीच कई बार इंस्पेक्टर से झड़पें भी हुई। एसपी पूर्वी अतुल सक्सेना ने खुद मौका मुआयना कर भरोसा दिलाया कि मामले की उच्चस्तरीय जाँच होगी। एसएसपी ने 24 घंटे में कार्रवाई का आश्वासन दिया है।ड्ढr बाबूपुरवा के बाकरगंज मुर्गा मार्केट की महिलाएँ और पुरुष गुरुवार को लगभग 11 बजे थाने पहुँच गए। भीड़ ने बाकरगंज निवासी ओमप्रकाश गुप्ता के घर पर वारंट लेकर आई पुलिस पर लूटपाट और महिलाओं से मारपीट का आरोप लगाकर नारेबाजी शुरू कर दी। थाने में मौजूद इंस्पेक्टर ने पुलिसिया तेवर दिखाए तो लोग दरी डाल कर वहीं बैठ गए। महिलाओं ने दोषी कर्मचारियों पर कार्रवाई होने तक डेरा डाले रहने की धमकी दे दी। व्यापारी नेता रामेश्वर लाला, ज्ञानेश मिश्रा, कपिल सब्बरवाल, प्रमोद अग्रहरि बार्डर, अशफाक ब्रादर, कमल मिश्रा आदि कई नेता भी मौके पर पहुँच गए। आरोप झूठा बताने पर नेताओं की भी दरोगाओं से कहासुनी हो गई। मौके पर पहुँचे एसपी पूर्वी अतुल सक्सेना ने लोगों को समझाने की कोशिश की। पर कार्रवाई की माँग पर अड़े रहे। इस पर एसपी पूर्वी ने लोगों के साथ ही घटनास्थल जाने का फैसला लिया। एसपी पूर्वी ने मौके पर पहुँच कर घटना के समय मौजूद महिलाओं व पड़ोसियों से पूछताछ की। लोगों ने बताया कि एसएसपी ने शाम छह बजे बुलाया था। व्यस्त होने की वजह से उन्होंने 24 घंटे में जाँच कर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है। व्यापारी नेताओं का कहना है कि यदि पुलिस कर्मियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर कार्रवाई न हुई तो आंदोलन किया जाएगा। दुराचार के अभियुक्तों के घरों पर ग्रामीणों का हमलाड्ढr बौण्डी (बहराइच) (हिसं)। बलात्कार के बाद किशोरी की हत्या करने वाले अभियुक्तों के घरों पर ग्रामीणों ने हथियारों से लैस होकर हमला बोल दिया। इस हमले में नामजद अभियुक्तों के घरों में जमकर तोड़फोड़ व लूटपाट की तथा दो महिलाआें को अगवा कर लिया। मौके पर पहुँची पुलिस ने अगवा की गई महिलाआें को छुड़ा लिया और नामजद तीनों अभियुक्तों को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। इस घटना के बाद क्षेत्र में तनाव फैल गया है। तनाव के मद्देनजर एहतियात के तौर पर गाँव में पुलिस बल तैनात किया गया है।ड्ढr क्षेत्र के ग्राम रेहुआ निवासी रामफेरे कहार की 16 वर्षीय पुत्री कुन्ता अपनी बहन रीमा के साथ बुधवार को अपने खेत में सरसों काटने गई थी। रीमा सरसों का बोझ लेकर घर चली गई थी। इसी बीच तीन युवक वहाँ पहुँचे और कुंता से सामूहिक दुराचार किया। उसके बाद कुंता के ही दुपट्टे से गला कसकर उसकी हत्या कर दी। घर से लौटी तो रीमा ने अपनी बहन को खेत में मृत पाया तो वह चिल्लाने लगी। रीमा के चाचा रामविलास मौके पर पहुँचे और पुलिस को घटना की सूचना दी। मृतका के चाचा की तहरीर पर थाना बौण्डी पुलिस ने ग्राम राजा रेहुआ के मजरा झुरिया निवासी मयंकर व नान्हू यादव पुत्रगण लाले यादव व राकेश पुत्र रामचन्दर के विरु अभियोग दर्ज किया था। नाराज ग्रामीणों ने हथियारों से लैस होकर गुरुवार को नामजद अभियुक्तों के घरों पर हमला बोल दिया और तोड़फोड़ व लूटपाट की। इसके बाद दो महिलाआें को अगवा कर लिया। पुलिस बल के साथ मौके पर पहुँचे उपनिरीक्षक रामसेवक मिश्र ने दो महिलाआें को अगवा कर ले जा रहे ग्रामीणों के कब्जे से छुड़ा लिया। पुलिस ने नामजद तीनों अभियुक्तों मयंकर,नान्हू व राकेश को गिरफ्तार कर जेल रवाना कर दिया है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पुलिस से खफा महिलाआें का थाने में डेरा