DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एक्सएलआरआइ में पैसों की बरसात

एक्सएलआरआइ में पैसों की बरसातदेश में 28 और विदेश में 40 लाख सालाना का ऑफर आइटी का बुखार उतरा बैंकिंग-फाइनांस का जलवाड्ढr विदेशों से कम आये ऑफर देश के मशहूर बिजनेस स्कूल जेवियर लेबर रिलेशन्स इन्स्टीटय़ूट (एक्सएलआरआइ) का सालाना कैम्पस रिक्रूटमेंट प्रोग्राम (सीआरपी-2008) इस साल शानदार रहा। देश-विदेश की मशहूर कंपनियों ने यहां के छात्रों को लेने के लिए पैसे की बरसात कर दी है। बिजनेस मैनेजमेंट (बीएमडी) और पर्सनल मैनेजमेंट एंड इंडस्ट्रीयल रिलेशन्स (पीएमआइआर) कोर्स के 180 छात्रों को 2ऑफर मिले हैं।ड्ढr अब छात्रों पर है कि वह किस पेशकश पर हां करते हैं और किसे ठुकराते हैं। ये प्रस्ताव देश में 28 लाख और विदेश में 40 लाख रुपये सालाना तक के हैं। संस्थान के निदेशक फादर इ इब्राहिम और प्लेसमेंट कमेटी के चेयरमैन प्रो.उदय दामोदरन ने बताया कि इस साल घरेलू ऑफर औसतन 15 लाख रुपये सालाना है, जो पिछले साल से सवा दो लाख रुपये ज्यादा हैं। वहीं, विदेशी प्रस्तावों में कमी आयी है। 2007 में 25 ओवरसीज ऑफर मिले थे। इस साल यह संख्या केवल 12 है। यही नहीं, इस बार विदेशी प्रस्तावों ने पैसे के मामले में भी अपने हाथ थोड़े समेटे रखे। पिछले साल औसत आेवरसीज ऑफर सालाना एक लाख डॉलर का था, जबकि इस साल यह रकम 0 हजार डॉलर रही। इस बार आकर्षक ऑफर देने में फाइनांस कंपनियां अव्वल रहीं, जबकि आइटी कंपनियां सबसे फिसड्डी। सीआरपी-2008 में 31 फीसदी ऑफर केवल फाइनांस कंपनियों की ओर से मिले हैं। मल्टीनेशनल जायंट्स लेहमन ब्रदर्स, गोल्डमैन सैच, जेपी मॉर्गन चेज, जेएम फाइनेंसियल, एचएसबीसी, सिटी बैंक, आइसीआरए और कोटक कंपनियों ने मोटा पैकेज देकर छात्रों पर जादू चलाया है। वहीं, कन्सलटेंसी और बैंकिंग कंपनियों की ओर से 21 फीसदी ऑफर (शेष पेज 1पर)ड्ढr मिले हैं। इनमें मेकिंजी, एक्सेन्चर, द हे ग्रुप, अर्न्‍स्ट एंड यंग, केएमपीजी, मर्सर, प्राइस वाटर कूपर, हेविट एसोसिएट्स और डेलोयट जैसी भारी-भरकम कन्सलटिंग कंपनियां शामिल हैं। इसके अलावा इसमें कई बैंकिंग और रिस्क मैनेजमेंट कंपनियां भी शामिल हैं। हमेशा की तरह फास्ट मूविंग कंज्यूमर गुड्स (एफएमसीजी) कंपनियों का भी संस्थान में जलवा रहा। एफएमसीजी कंपनियों ने 23 फीसदी ऑफर दिये। इनमें प्रोक्टर एंड गैम्बल, हिन्दुस्तान यूनीलीवर लिमिटेड, जॉन्सन एंड जॉन्सन, कॉलगेट पामोलिव, नेस्ले, कैडबरी, एशियन पेन्ट्स, रेकिट बेन्चाइसर, आइटीसी और पेप्सी शामिल हैं। आइटी कंपनियों के केवल 11 फीसदी ऑफर छात्रों ने स्वीकार किये हैं। आइटी सेक्टर में मेजर रिक्रूटर कंपनियां माइक्रोसॉफ्ट, एचसीएल, इन्फोसिस, कोग्निजेन्ट, विप्रो रहीं।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: एक्सएलआरआइ में पैसों की बरसात