DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

गया ग्रिड में लगी आग से बिजली की किल्लत

गया ग्रिड में लगी आग की तपिश सूबे की पनबिजली परियोजनाओं को भी झेलनी पड़ रही है। ग्रिड में लगी आग के बाद बारुण और अगनूर पनबिजली परियोजना से उत्पादन पूरी तरह ठप हो गया है। इन दोनों परियोजनाओं से 5 मेगावाट बिजली का उत्पादन होता है। यहां से उत्पादन ठप होने के कारण संबंधित क्षेत्र में बिजली की किल्लत हो गई है। हालांकि इन पनबिजली परियोजनाओं से बिजली बोर्ड के ग्रिड को ही सीधी बिजली दी जाती है।ड्ढr ड्ढr उधर बीएचपीसी के परियोजना प्रबंधक घनश्याम मल्लिक ने बताया की दोनों बिजलीघरों को चालू करने के लिए वैकल्पिक व्यवस्था के प्रयास किए जा रहे हैं। उनके अनुसार इसके लिए केन्द्रीय विद्युत प्राधिकार से भी बात की जा रही है। मंगलवार की रात गया सुपरग्रिड में तकनीकी कारणों से लगी आग का असर बारुण और अगनूर पनबिजली परियोजना पर भी पड़ा है। सोन नहर पर स्थित बारुण पनबिजली परियोजना से 3.6 और अरवल जिले में स्थित अगनूर पनबिजली परियोजना से 1 मेगावाट बिजली का उत्पादन होता है। इन बिजलीघरों को चलाने के लिए गया सुपरग्रिड से ही बिजली की आपूर्ति होती है। वहां से बिजली मिलने के बाद पनबिजलीघर तकनीकी रूप से संचालन के योग्य होते हैं। चालू होने के बाद उत्पादित बिजली पुन: उसी ग्रिड को आपूर्ति की जाती है। फिलहाल ग्रिड के ठप होने के बाद से दोनों पनबिजली परियोजनाएं इस समय न तो बिजली लेने और न ही देने में सक्षम हैं। योजना पर्षद के परामर्शी नियुक्तड्ढr पटना (हि.ब्यू.)। राज्य सरकार ने आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव मनोज कुमार श्रीवास्तव का तबादला कर दिया है। उन्हें बिहार राज्य योजना पर्षद का परामर्शी नियुक्त किया गया है। वहीं पथ निर्माण विभाग के प्रधान सचिव आर.के.सिंह को आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। इसके अलावा अन्तर्राज्यीय प्रतिनियुक्ित पर बिहार आए भारतीय प्रशासनिक सेवा के दो अधिकारियों को गृह विभाग में पदस्थापित किया गया है। पंजाब कैडर के अधिकारी दिलीप कुमार तथा उड़ीसा कैडर के अधिकारी संजय कुमार सिंह को गृह विभाग में अपर सचिव बनाया गया है। इसके अतिरिक्त बिहार प्रशासनिक सेवा के अपर समाहर्ता स्तर के पदाधिकारी एवं गृह विभाग में उप सचिव जगदीश प्रसाद को स्थानांतरित कर कार्मिक एवं प्रशासनिक सुधार विभाग में योगदान करने का आदेश दिया गया है। कार्मिक एवं प्रशासनिक सुधार विभाग ने इस आशय की अधिसूचना जारी कर दी है।ड्ढr ड्ढr वन विभाग में नियुक्ितयां अगले वित्तीय वर्ष तकड्ढr पटना (हि.ब्यू.)। वन एवं पर्यावरण मंत्री रामचन्द्र सहनी ने कहा है कि अगले वित्तीय वर्ष तक विभाग की रिक्ितयों को भर दिया जाएगा। गुरुवार को विधानपरिषद में आय-व्यय 2008-0 के लिए राजभाषा, वन एवं पर्यावरण और निबंधन विभाग के लिए सरकार का पक्ष रखते हुए मंत्री ने बताया कि विभाग में अग्रिम पंक्ित में विगत 20 वर्षो से कोई बहाली नहीं हुई है। इसीलिए सूबे में हर जगह वृक्ष अंधाधुंध काटे जा रहे हैं। उन्होंने दावा किया कि वर्ष 2012 तक सूबे के 15 फीसदी हिस्से को वन व वृक्षों से आच्छादित कर दिया जाएगा। सरकार इस दिशा में कार्रवाई शुरू कर चुकी है। उन्होंने सरकार की योजनाओं की विस्तार से रूपरेखा भी पेश की।ड्ढr ड्ढr 10 को बैठक बुलाईड्ढr पटना (हि.ब्यू.)। अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी की अध्यक्ष सोनिया गांधी ने 10 मार्च को दिल्ली में प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्षों की बैठक बुलाई है। इसमें केन्द्रीय बजट में कर्ज माफी समेत आम लोगों को दी गई अन्य रियायतों से व्यापक जनता को अवगत कराने पर विचार होगा। यह जानकारी कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता एच.के. वर्मा ने दी है।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: एक नजर