अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आेलंपिक क्वालिफाइंग में भारत की पहली हार

उस्ताद ड्रैगफ्लिकर वी आर रघुनाथ के दो बेहतरीन गोलों के बावजूद भारत को ब्रिटेन के खिलाफ आेलंपिक क्वालिफाइंग हॉकी टूर्नामेंट के मैच में गुरुवार को 2:3 से पराजय का स्वाद चखना पड़ा। तीन लगातार विजयों के बाद टूर्नामेंट में भारत की यह पहली शिकस्त है। भारत के अब चार मैचों से नौ अंक हैं, जबकि ब्रिटेन के इतने ही मैचों से 12 अंक हो गए हैं। भारत ने शुरुआत में ही सबको चौंकाते हुए मैच में बढत बना ली थी। रघुनाथ ने दूसरे ही मिनट में मिले पेनल्टी कॉर्नर का फायदा उठाते हुए गोल कर दिया। इसके चार मिनट बाद ही रोबर्ट मूर पर फाउल खेलने के आरोप में विक्रम कांत को पीला कार्ड दिखाए जाने से भारत को करारा झटका लगा। विक्रम को मूर के चेहरे पर कोहनी मारने के कारण 10 मिनट तक मैदान से बाहर बैठना पड़ा। उनकी गैरमौजूदगी भारत के लिए महंगी साबित हुई और रिचर्ड मैंटेल ने 15वे मिनट में बराबरी का गोल दाग दिया। फिर भी मैदान पर भारत का ही दबदबा था। इस दौरान तुषार खांडेकर ने बाएं बाजू से गेंद लेकर ब्रिटेन के गोलची के दाहिनी आेर खूबसूरत नीचा शॉट लगाया मगर गोल करने से चूक गए। शिवेन्दर सिंह को मिडिलटन के खिलाफ फाउल खेलने पर पीला कार्ड दिखाए जाने से भारत को एक और झटका लगा। ब्रिटेन के एश्ले जैक्सन को भी मध्यांतर से ठीक पहले हरा कार्ड दिखाया गया। भारत ने दूसरे हॉफ की शुरुआत भी झन्नाटेदार अंदाज में की लेकिन प्रभजोत सिंह 37वे मिनट में सिर्फ गोलची के सामने होने के बावजूद गोल करने से चूक गए। जोंटी क्लार्क ने 45वे मिनट में गोल कर ब्रिटेन को बढ़त पर ला दिया। मगर रघुनाथ ने पेनल्टी कार्नर पर अपना दूसरा गोल दाग 64वे मिनट में हिसाब बराबर कर दिया। आखिरी समय में ब्रिटेन के खिलाड़ियों ने जीत के गोल के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक दी। मैच खत्म होने से कुछ सेकंड पहले ही मूर ने जबर्दस्त गोता लगाते हुए साइमन मैंटेल के पास को भारत के गोल में धकेल दिया। भारत का अगला मुकाबला मेजबान चिली से और ब्रिटेन का मैच आस्ट्रिया से होगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आेलंपिक क्वालिफाइंग में भारत की पहली हार