DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

दफन कर दें कड़वी यादें : भज्जी

हमेशा खबरों में रहने वाले भारत के स्पिनर हरभजन सिंह का कहना है कि ऑस्ट्रेलियाई दौरे में शुरू हुई कड़वाहट की यादों को अब दौरे के खात्मे के साथ ही दफना देना चाहिए। ऐतिहासिक जीत में अहम भूमिका निभाने वाले और दैरे को हमेशा चर्चा में रखने वाले भज्जी ने लंबे दौरे से घर वापसी के बाद शुक्रवार को यहां प्रेस कांफ्रेस में कहा, ऑस्ट्रेलिया में भारत के प्रदर्शन ने दिखा दिया कि भारत विश्व में क्रिकेट की प्रमुख शक्ित बन सकता है। उन्होंने कहा, जीत के साथ ही सारी कड़वी यादों अब दफ्न हो गईं। हमें अब खेल पर ध्यान लगाना चाहिए और अच्छी खेल भावना से खेलना चाहिए। ऑस्ट्रेलियाई हमें छेड़ना चाहते थे लेकिन खुद कुछ भी सहने को तैयार नहीं थे। हमने बहादुरी के साथ क्रिकेट के जरिए उन्हें लाजवाब कर दिया। उन्होंने ही विवाद की शुरुआत की थी। कुछ कमेंट तो इतने खराब थे कि मैं आपको बता भी नहीं सकता। पर हम वहां क्रिकेट खेलने गए थे। भज्जी ने ओपनर हेडेन और गिलक्रिस्ट के खिलाफ भी किसी कमेंट की बात से इनकार कर दिया। दौरे के दौरान एक अखबार ने उनको उद्धृत करते हुए लिखा था, हेडेन की विश्वसनीयता की बात नहीं करें, वह बहुत बड़ा झूठा है। भज्जी ने इस बारे में कहा स्पष्ट किया कि उन्होंने ऐसा नहीं कहा था। फिरकी गेंदबाज ने कहा, मैंने वो कमेंट नहीं किए थे। इस पर काफी कुछ लिखा गया है लेकिन मैंने ये बाते नहीं कहीं। उनके हवाले से ये भी लिखा गया था, वह (गिलक्रिस्ट) कोई संत नहीं, हालांकि वह संत दिखने की कोशिश करता है जो मैदान पर कोई आक्रामक बात नहीं करता। इस पर भी भज्जी ने कहा, ये पूरी तरह से गलत है। उन्होंने टीम की तारीफ करते हुए कहा कि अगर हम ऐसे ही खेलते रहे तो जल्दी ही टेस्ट और वनडे में भी दुनिया की नंबर एक टीम बन जाएंगे। उन्होंने विशअवास जताया कि द. अफ्रीका के खिलाफ भी टीम ऐसा ही प्रदर्शन करेगी। सायमंड्स के खिलाफ नस्लीय टिप्पणी पर उन्होंने कहा, जब मुझे इसका पता चला तो बहुत आश्चर्य हुआ। अगर मैंने कुछ गलत किया होता तो मुझे सजा मिलती। लेकिन आखिर सच्चाई सामने आई। अंडर-1टीम की विजय पर उन्होंने बधाई देते हुए कहा, भारतीय क्रिकेट के लिए ये अच्छी बात है कि आने वाले वक्त में हमारी पास एक अच्छी युवा टीम होगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: दफन कर दें कड़वी यादें : भज्जी